अलीगढ़, जेएनएन। गांधी क्षेत्र के अलीनगर के पास शुक्रवार देर रात राजमिस्त्री ठेकेदार नीरज सिंह की गला दबाकर हुई हत्या के मामले में पुलिस गायब माेबाइल फोन व महिला मित्र के घर में मिली चप्पल के सहारे राज खोलने में जुट गई है। गांधीपार्क क्षेत्र के डोरी नगर निवासी 55 वर्षीय नीरज सिंह राजमिस्त्री ठेकेदार थे। महुआखेड़ा क्षेत्र के सूर्य सरोवर में एक मकान पर निर्माण कार्य चल रहा है। राजमिस्त्री की पत्नी नीलेश, बेटी दर्शन ने बताया कि शाम करीब पांच बजे कहीं से पेमेंट लेकर घर आए थे। कुछ देर बाद वे लेबर को भुगतान करने सूर्य सरोवर जाने की कहकर निकले थे। देर रात तक वे घर नहीं पहुंचे। मोबाइल फोन भी बंद जाने लगा। स्वजन रात भर उन्हें तलाशते रहे। उधर गांधीपार्क क्षेत्र के अलीनगर के पास राजमिस्त्री नीरज का शव मिला। पास में ही बाइक पड़ी हुई थी। रात में शिनाख्त न होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम मोर्चरी में रखवा दिया। सुबह स्वजन के थाने पहुंचने पर हुलिए व फोटो के आधार पर शव की शिनाख्त कर ली।

महिला मित्र पर हत्या का शक

राजमिस्त्री नीरज के भतीजे मंजू सिंह व दामाद गोविंद ने आरोप लगाया कि कुंवरनगर इलाके की एक महिला मित्र से पिछले कई सालों से करीबी संबंध थे। इनका महिला मित्र की बेटी व दामाद विरोध करते थे। पिछले दिनों इसको लेकर तीनों में विवाद भी हुआ था। आरोप है कि राजमिस्त्री घर से पैसे लेकर निकले थे। इन्हीं पैसों के लालच में तीनों ने मिलकर नीरज सिंह की पहले गला दबाकर हत्या कर दी। फिर शव को ले जाकर अलीनगर के पास सड़क किनारे फेंक दिया। गले पर दबाने व आंख पर भी चोट के निशान थे। तलाशी के दौरान आरोपित महिला के घर में दो अलग-अलग चप्पलें मिलीं। जिनमें एक चप्पल राजमिस्त्री की थी। जबकि दूसरी चप्पल किसी अन्य की थी। डिस्कवर बाइक भी घटनास्थल पर लावारिस पड़ी हुई मिली। जिसमें कहीं भी खरोंच आदि के निशान नहीं मिले।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में राजमिस्त्री की गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई है। स्वजन के आरोपों के आधार पर मामले में जांच कर आरोपित महिला से पूछताछ की जा रही है,जल्द घटना का राजफाश किया जाएगा।

- मोहसिन खान, सीओ बन्नादेवी