अलीगढ़, जेएनएन। अस्पतालों में बेड, आक्सीजन, पल्स आक्सीमीटर के साथ ब्रांडेड कंपनियों के एन-95 मास्क की भी बाजारों में कमी है। आइएसआइ मार्का मास्क की कोविड सेंटरों में पैरामेडिकल स्टाफ व अन्य लोगों को लगाने की अनिवार्यता है। कोविड सेंटर में कोई व्यक्ति कपड़े या अन्य प्रकार के मास्क लगाता है, वह जोखिम भरा हो सकता है। अलीगढ़ की हिक्स थर्मा मीटर इंडिया लिमिटेड के पास भी एन-95 मास्क की कमी है। 

 केएन-95 मास्क बाजार में उपलब्ध
कपड़े के मास्क का प्रचलन बढ़ रहा है। बाजार में फड़ लगाकर ये मास्क बेचे जा रहे हैं। सुरक्षा के हिसाब से हिक्स, बिनटेक, वीनस, व स्वास जैसी कंपनियों के मास्क सुरक्षा मानक पूरे करते हैं। हिक्स कंपनी का केएन-95 मास्क बाजार में उपलब्ध है। यह मास्क एन- 95 का तोड़ है मगर वैल्यू कुछ कम है। बाजार में एन-95, केएन-95, थ्री प्लाइव, थ्री प्लाइव मास्क की ज्यादा मांग है।
 
स्वास एन-95 मास्क अभी तक नहीं आया
पांच अगस्त को पीएम नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राममंदिर निर्माण की आधारशिला रखी थी। उनके लिए आइआइटी कानपुर के छात्रों ने खास मास्क बनाया था। इसे स्वास एन-95 नाम दिया था। 
पल्स आक्सीमीटर की भी कमी
 पल्स आक्सीमीटर की भी बाजार में कमी हैं। हिक्स थर्मा मीटर कंपनी के पास भी स्टाक नहीं है। कंपनी ने पिछले सप्ताह एक हजार पल्स आक्सीमीटर मंगाए थे। ये स्टाकिस्टों ने मंगवा लिए। कंपनी ने सीएमडी सिद्धार्थ गुप्ता ने बताया कि पल्स आक्सीमीटर के साथ इन्फ्रा रेड थर्मामीटर का भी स्टाक नहीं है। विदेश से रा मैटेरियल न आने से हमारी करार वाली मैन्युफैक्चङ्क्षरग कंपनियां माल नहीं दे पा रही हैं। 
हिक्स ने रियूजेबल मास्क किया तैयार
 हिक्स थर्मा मीटर इंडिया लिमिटेड ने रि यूजेबल एन-95 मास्क तैयार किया है। कंपनी के सीएमडी सिद्धार्थ गुप्ता का कहना है कि नवंबर में कोरोना का खतरा जब कम हुआ था, तब हमारी शोध टीम ने रि यूजेबल एन-95 मास्क तैयार किया। कपड़े के इस मास्क को 30 से 40 बार धो सकते हैं।
 
एन-95 व थ्री प्लाइव मास्क 25 दिन से स्टाक में नहीं हैं। कंपनियां सप्लाई नहीं कर रही हैैं। 10 दिन बाद ही एन-95 मास्क मिलने की उम्मीद है। कंपनी ने अपने माल का निर्यात भी रोक रखा है।
यर्थात गुप्ता, निदेशक, हिक्स थर्मा मीटर इंडिया लिमिटेड कंपनी
 
एन 95 मास्क में फिल्टर होकर हवा आती है। उसके वायरस बाहर ही रह जाते हैं। इसका सावधानी के साथ प्रयोग करना भी जरूरी है। साधारण मास्क ज्यादा सुरक्षित नहीं हैं।
डा. अतुल गोविंद, सघन रोग विशेषज्ञ
 
बाजार में ब्रांडेड कंपनियों के एन-95 मास्क की कमी है। मैंने कानपुर में स्वास कंपनी का मास्क मंगाने के लिए कई बार संपर्क किया, आज तक माल नहीं मिला। 20 से 30 फीसद तक कंपनियों ने रेट बढ़ा दिए हैं।
अनिल पीरयानी, मालिक, एंटी कोरोना शाप, रामघाट रोड