अलीगढ़, जागरण संवाददाता। Aligarh news : अतरौली के पालीमुकीमपुर थाना क्षेत्र के गांव हमीदपुर बवरोतिया में बरसात के दौरान जंगल में मवेशियों को चरा रहे वृद्ध पर बिजली गिर गई, जिससे वृद्ध की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर वृद्ध के स्वजन व ग्रामीण भी पहुंच गए और सूचना थाना पुलिस को दे दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वही वृद्ध की मौत से स्वजन का रो रो कर बुरा हाल हो गया।

शुक्रवार की दोपहर की घटना : गांव हमीदपुर बवरोतिया निवासी 65 वर्षीय नेम सिंह प्रतिदिन की तरह अपने मवेशियों को चराने के लिए शुक्रवार की दोपहर बारिश के दौरान गए थे। उसी दौरान वृद्ध के ऊपर बिजली गिर गई। जिससे वृद्ध की मौके पर ही मौत हो गई। यह देख आसपास खेतों पर मौजूद किसान दौड़ कर वृद्ध के पास पहुंचे तो देखा वृद्ध की मौत हो चुकी थी।

किसानों ने वृद्ध के स्वजन को सूचना देते हुए मौके पर बुला लिया। जिनका रो रो कर बुरा हाल हो गया। सूचना पाकर थाना पुलिस हुई मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वृद्ध चार बेटों का पिता था।

मकान गिरने से मलबे में दबे जानवर व नगदी

लोधा।क्षेत्र के गांव रायट और गोविंद पुर फगोई में गुरुवार रात्रि में हुई बरसात के कारण मकान गिर गये। गांव रायट निवासिनी वेवा नफीसा पत्नी लियाकत खां कच्ची कोठरी में रहकर जीवन यापन करती है एवं तीन बेटे भूरा, रहीस और आशिक अली शहर में रिक्शा चलाते हैं।

वृद्धा ने कुछ रुपये इकठ्ठा करके छ्त में सोठ के किनारे रख दिये थे और घर में पाल रखे मुर्गा मुर्गियों को कोठे में ही बंद कर लेती थी। कई दिन से हो रही बारिश ने कच्ची कोठरी को कमजोर कर दिया और गुरुवार रात्रि में कोठरी की छ्त गिर गयी वृद्धा ने जैसे तैसे अपनी जान तो बचा ली मगर एक बकरा, एक बकरी, छः मुर्गियां दबकर मर गयीं एवं रुपये भी मलबे में दब गये।

वहीं दूसरी घटना गांव गोविंद पुर फगोई में हुई मौहम्मद रफीक के भी मकान की छ्त कच्ची थी। कई दिन से हो रही बारिश के चलते और मकान गिरने के डर से आंगन में तिरपाल डालकर परिवार के साथ सोने लगा और अचानक गुरुवार रात्रि में छ्त गिर गयी सावधानी के चलते कोई जनहानि नहीं हुई।

Edited By: Anil Kushwaha