जासं, अलीगढ़ : एएमयू में चार दिन पहले सुलेमान हाल के कश्मीर हाउस हास्टल में पीलीभीत के युवक के आत्महत्या करने की घटना ने इंतजामिया को हिला कर रख दिया है। बाहरी लोगों की तलाश के लिए शनिवार देर रात प्राक्टोरियल टीम ने एसएस-साउथ व एसएस नार्थ हाल में छापेमारी की। छात्रों के कमरे में कुछ ऐसे भी युवक मिले, जिनका यूनिवर्सिटी से सीधा वास्ता नहीं है और अपने भाई या परिचित के पास रह रहे थे। उन्हें जल्द से जल्द कैंपस छोड़ने की चेतावनी दी गई है।

प्राक्टर प्रो. एम वसीम अली की अगुवाई में टीम ने छापेमारी की शुरुआत एसएस साउथ हाल से की। इसके बाद एसएस नार्थ में टीम गई। प्राक्टर के अनुसार कुछ कमरों में ऐसे युवक मिले हैं जो अपने भाई या किसी परिचित छात्र के पास रहे थे। इनमें अधिकांश ऐसे युवक थे जिनकों प्रवेश परीक्षा देनी है। परीक्षा की तैयारी के लिए वो रुके हुए थे। जिन कमरों में ये युवक रहे थे वहां के छात्र को सख्त निर्देश दिए गए हैं तीन दिन के अंदर कमरा खाली कराएं अन्यथा कार्रवाई की जाएगी। चेकिग अभियान जारी रहेगा। पीलीभीत के युवक द्वार सुलेमान हाल में आत्महत्या करने की घटना के बाद से सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त किया जा रहा है। सभी हाल के प्रोवोस्ट को भी बाहरी लोगों पर नजर रखने के लिए निर्देश दिए गए हैं, ताकि कोई कैंपस में न ठहर सके। टीम में डिप्टी प्राक्टर हसमत अली, डा. एस अली नवाज जैदी, प्रो. अरशद हुसैन के अलावा एसएस साउथ के प्रोवोस्ट प्रो. बीडी खान व एससएस नार्थ के प्रोवोस्ट प्रो. इशरत भी शामिल थे।

Edited By: Jagran