अलीगढ़ : दिल्ली जा रही पैसेंजर ट्रेन ईएमयू को कलुवा रेलवे स्टेशन के पास शरारती तत्व ने ट्रैक के ग्लू ज्वॉइंट पर सिक्का रखकर रोक दिया। सिग्नल लाल होते ही ट्रेन रुकी तो अफसरों में खलबली मच गई। आरपीएफ व सिग्नल इंजीनियर पहुंच गए। उन्हें ज्वॉइंट पर सिक्का चिपका मिला।

अलीगढ़ से 14 किलोमीटर दूर सुबह 6:25 बजे यह घटना हुई। अचानक स्टेशन के आउटर पर ट्रेन रुकने से यात्री परेशान हो गए। जानकारी मिलने के आधा घंटे बाद अलीगढ़ से आरपीएफ दरोगा अमित चौधरी व जेई सिग्नल योगेश दुबे पहुंच गए। ट्रेन आउटर पर खड़ी थी। पता चला कि ट्रैक पर सिक्का रखा होने से सिग्नल लाल हुआ है। आरपीएफ इंस्पेक्टर पीके ओझा ने बताया कि किसी शरारती तत्व ने सिक्का रखकर सिग्नल लाल किया, जिससे ट्रेन आठ मिनट रुकी रही। शरारती तत्वों से निबटने के लिए आरपीएफ चौकन्ना है। चार दिन नहीं चलेगी अलीगढ़-पलवल पैसेंजर : दोपहर को अलीगढ़ से पलवल व अगले दिन पलवल से अलीगढ़ आने वाली पैसेंजर को रेलवे ने चार दिन के लिए निरस्त कर दिया है। तिलक ब्रिज व आनंद विहार स्टेशन पर चल रहे तीसरी व चौथी रेल लाइन के लिए चल रहे काम के कारण कई ट्रेनों को निरस्त किया गया। कई का रूट बदला गया है। इनमें अलीगढ़-पलवल पैसेंजर ट्रेन शामिल है। यह ट्रेनें चलीं देरी से : गर्मी में ट्रेनों की लेटलतीफी से यात्री परेशान हैं। गुरुवार को दिल्ली जाने वाली कैफियात नौ, मगध सात, नंदनकानन, गोमती व स्वतंत्रता सेनानी तीन घंटे देरी से अलीगढ़ जंक्शन पर पहुंची। कानपुर की ओर जाने वाली महाबोधि दो घंटे व ईएमयू 30 मिनट देरी से अलीगढ़ पहुंची।

Posted By: Jagran