अलीगढ़ (जेएनएन): सुबह हल्की सी धुंध, ठंडी हवा और सात बजे तक सूरज के तेवर नरम। कूलर तो बंद ही हो गए। रात में ओढ़ने के लिए चादर।  शायद सभी घरों में एेसा है।  पर, एेसा  पिछले माह तो नहीं था। न हैरान होने की बात है और न परेशान। मौसम चेंज हो रहा है। आधा अक्टूबर माह गुजर चुका है। हम सर्दी के मौसम की ओर बढ़ रहे हैं। समय के साथ सर्दी बढ़ने लगेगी। कुछ दिन बाद गरम कपड़ों की जरूरत होगी। एेसा हर साल होता है, पर इस बदलते मौसम में हमें सचेत रहने की भी तो जरूरत है। पता है न, जरा सी लापरवाही सेहत पर भारी पड़ती है। सर्दी, जुखाम, बुखार की शिकायत हो जाती है। तो भी हम इससे बचने के लिए लापरवाही बंद करें। सचेत रहें। स्वस्थ्य रहें। 

इसलिए जरूरत है सचेत रहने की 

अधिकतम न्यूनतम तापमान में अंतर होने से शरीर खुद को इस अनुसार आसानी से ढाल नहीं पाता। यह तो सभी जानते हैं, बदलता मौसम किसी को भी बीमार कर सकता है। जहां मौसम बदला वहां खांसी, जुकाम , बदन दर्द, वायरल फीवर, गले में दर्द, और फ्लू कि शिकायत होना आम हो जाता है। ऐसे में खुद का ख्याल रखना बहुत जरूरी है ताकि बदलते मौसम में खुद को छोटी-मोटी बीमारियों से बचाया जा सके। 

क्या करें 

डॉक्टर के यहां भीड़ लगने लगी है। सर्दी हो या गर्मी शरीर को हाइड्रेट करना बहुुत जरुरी है। इसके लिए भरपूर मात्रा में पानी पीना ना छोड़ें गुगुना पानी आपकी सेहत के लिए ज्यादा फायदे मंद है। इस से आप गले के दर्द से बचे रहेंगे और पाचन क्रिया भी अच्छी रहेगी। पानी को खाना खाने से एक घंटा पहले और खाना खाने के आधा घंटा बाद ही पीएं। अपने आहार में कुछ जरुरी हर्ब भी शामिल करें। इससे शरीर को एनर्जी मिलेगी व अदरक तुलसी, आवला, एलोवीरा, इलायची, अजवाइन भी सेवन करे यह अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरुरी है। 

पांच दिन का मौसम

दिन अधिकतम न्यूनतम

18 अक्टूबर, 33.6, 20.6

19 अक्टूबर, 30.6, 20.0

20 अक्टूबर, 31.4, 21.0

21 अक्टूबर, 31.4, 17.8

22 अक्टूबर, 31.8, 17.4

23 अक्टूबर, 32.4, 16.8

नोट: तापमान डिग्री सेल्सियस में रहा।

ये ना खाएं 

आइस्क्रीम, कोल्डड्रिंक खटटी-मसालेदार तली हुई चीजों से परहेज करें। इस मौसम में हैल्दी डायट लेना बहुत जरुरी है।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस