अलीगढ़, जागरण संवाददाता। जवां थाना क्षेत्र के छेरत स्थित  राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कालेज में  गुरुवार रात कानपुर की एक छात्रा करिश्मा यादव ने फंदे पर लटककर खुदकुशी कर ली। करिश्मा देररात तक अन्य छात्राओं के साथ ही थी, तब कोई तनाव जैसी बात नहीं लगी। रात दो बजे अन्य छात्राअों ने शीशे से झांककर देखा तो करिश्मा का शव लटका मिला। कमरा अंदर से बंद था। पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है।

तीन डाक्‍टरों के पैनल ने किया पोस्‍टमार्टम

मूलरूप से इटावा के गांव झींगरपुर निवासी उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में सब-इंस्पेक्टर उपदेश यादव फिलहाल कानपुर नगर के थाना नौबस्ता के योगेश विहार आवास विकास में परिवार के साथ रहते हैं। उपदेश की तैनाती फतेहपुर के थाना थरियांव में है। इन पर चार बेटी व एक बेटा है। इनमें तीसरे नंबर की 24 वर्षीय बेटी करिश्मा जवां थाना क्षेत्र के छेरत स्थित राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कालेज व अस्पताल में बीएचएमएस (प्रथम वर्ष) की छात्रा थी और छात्रावास के प्रथम तल पर कमरा नंबर 115 में कानपुर के ही नौबस्ता निवासी सहपाठी सुरभि के साथ रहती थी। रामनवमी व दशहरा के चलते अधिकांश छात्र-छात्राएं अपने घर चले गए थे। करिश्मा की रूम पार्टनर सुरभि भी घर गई थी। पुलिस के मुताबिक, रात साढ़े 12 बजे तक करिश्मा अन्य छात्राओं के साथ ही थी। इसके बाद आराम करने व पढ़ाई संबंधी कुछ काम की बात कहकर कमरे में चली गई। कुछ देर बाद दो बजे अन्य छात्राएं वहां से निकलीं तो करिश्मा का दरवाजा बंद था। खटखटाया तो कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद कुर्सी पर चढ़कर शीशे से देखा तो होश उड़ गए। छात्राअों ने ही कुंदा टेढ़ा करके दरवाजा खोला और शव को नीचे उतारा। इसके बाद प्रिंसिपल योगेंद्र सिंह माहुर को सूचना दी गई। तीन डाक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। वीडियोग्राफी भी करवाई गई। इसमें हैंगिंग (खुदकुशी) की बात सामने आई है। शाम करीब साढ़े पांच बजे स्वजन पोस्टमार्टम के बाद शव इटावा स्थित गांव में ले गए।

छात्रा ने आत्महत्या की है। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन के सुपुर्द कर दिया गया है। अन्य छात्राओं से बातचीत में अभी कोई बात सामने नहीं आई है। स्वजन की ओर से भी कोई तहरीर नहीं मिली है। आत्महत्या के कारणों के बारे में जांच की जा रही है। छात्रा के मोबाइल फोन की सीडीआर निकलवाई जा रही हैं।

श्वेताभ पांडेय, सीओ प्रथम