अलीगढ़ जागरण संवाददाता। एएमयू के जेएन मेडिकल कालेज में जूनियर डाक्टर अब बुधवार से ओपीडी के साथ-साथ अब आपरेशन थिएटर(ओटी) और वार्ड में भी सेवाएं नहीं देंगे। केवल इमरजेंसी में ही मरीजों को देखेंगे। इससे मरीजों की मुसीबत और बढ़ने वाली है। ओपीडी में हड़ताल के चलते मरीज पहले से ही परेशान थे। बुधवार देर शाम जूनियर डाक्टरों ने ट्रामा सेंटर से बाबे सैयद तक मार्च भी निकाला।

यह है वजह

नीट की काउंसलिंग न होने के विरोध में जेएन मेडिकल कालेज के जूनियर डाक्टर शनिवार से हड़ताल पर हैं। अभी तक वह ओपीडी में मरीजों को नहीं देख रहे थे, लेकिन इसका असर इमरजेंसी और वार्ड में भी पड़ रहा था। इमरजेंसी में केवल अति गंभीर मरीजों को ही देखा जा रहा है। बहुत कम मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। इस कारण वार्ड में मरीजों की संख्या भी बहुत कम हो गई है। अधिकांश मरीजों को हड़ताल का हवाला देते हुए छुट्टी भी दे दी गई। आरडीए के सचिव डा. आदिल ने बताया कि सरकार ने अभी तक हमारी बात नहीं मानी है। इसके चलते बुधवार से जूनियर डाक्टर ओपरेशन थिएटर और वार्ड में भी ड्यूटी नहीं करेंगे।

ज्ञापन सौंपा

इमरजेंसी में ही मरीजों को देखा जाएगा। अपनी मांगों को लेकिर जूनियर डाक्टरों ने बुधवार शाम इमरजेंसी से बाबे सैयद तक मार्च निकाला। यहां केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को संबोधित ज्ञापन प्राक्टर प्रो. एम वसीम अली को सौंपा।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena