अलीगढ़, जागरण संवाददाता। परफोर्मेंस ग्रांट से लाभांवित पंचायत दादों व हरदोई के निर्माण कार्यों में अनियमितताएं बरतने पर बड़ी कार्रवाई की गई है। डीएम सेल्वा कुमारी जे ने घटिया निर्माण वाले 78 लाख के पांच कार्यों को श्रमदान घोषित कर दिया है। इन कार्यों को करने वाले चार ठेेकेदारों को भी ब्लैक लिस्टेड किया गया है। दैनिक जागरण में अनियमितताओं की खबर प्रकाशित होने के बाद सीडीओ अंकित खंडेलवाल ने जांच के आदेश दिए थे। आरइडी के अधिशासी अभियंता को जांच में काफी खामियां मिली थीं।

यह है मामला

शासन स्तर से विकास की दृष्टि से पिछड़ी ग्राम पंचायतों को माडल के रूप में विकसित करने के आदेश दिए हैं। इसके तहत सूबे के 16 जिलों में परफारर्मेंस ग्रांट से विकास कार्य कराए जा रहे हैं। जिले में बिजौली ब्लाक की सांकरा, हरदोई एवं दादों को इसमें शामिल किया गया। इसके लिए कुल 40 करोड़ की धनराशि आवंटित हुई है। दादों को सबसे अधिक करीब 12 करोड़ रुपये मिले। हरदोई व दादों में निर्माण कार्य की गुणवत्ता घटिया होने का समाचार दैनिक जागरण ने 29 सितंबर के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया। इस पर सीडीओ अंकित खंडेलवाल ने आदेश दिए थे। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशासी अभियंता मदनलाल वर्मा को जांच की जिम्मेदारी मिली थी।

जांच में मिली खामियां

जांच में पांच निर्माण कार्यों में खामियां मिलीं। घटिया ईंटों का प्रयोग हो रहा था। जांच अधिकारी ने इन कार्यों की विस्तृत रिपोर्ट सीडीओ को दी। सीडीओ ने डीपीआरओ धनंजय जायसवाल के माध्यम से इस रिपोर्ट को डीएम के सामने प्रस्तुत कराया। इस पर डीएम ने इन पांच कार्यों को श्रमदान घोषित कर दिया। 78 लाख की धनराशि से यह काम कराए जा रहे थे। वहीं, इन कार्यों से जुड़े चारों ठेकेदार ब्लैक लिस्टेड घोषित किया है।

यह कार्य श्रमदान हुए हैं घोषित

हरदोई में दो काम श्रमदान घोषित हुए हैं। इनमें 5.66 लाख की कीमत से पंचायत घर की बाउंड्रीबाल व चंदनिया मार्ग से तालाब तक 5.25 लाख का नाला निर्माण शामिल है। वहीं, दादों में 8.81 लाख से इंद्रजीत के प्लाट से राजमऊ मार्ग तक एलटाइप नाली व सीसी सड़क, 5.05 लाख की कीमत में सोपाली के घर तक नाली निर्माण व 31.67 लाख से छर्रा सांकरा मार्ग से मस्जिद चौराहे तक एल टाइप नाली एवं सीसी निर्माण कार्य शामिल हैं।

यह ठेकेदार हुए ब्लैकलिस्टेड

मैसर्स विप्रो इंडिया के उमेश कुमार निवासी नगला हंसी वोनई, मैं एसआर कांट्रेक्टर्स के राहुल यादव निवासी शिवपुरी गली नंबर चार, मैसर्स श्रीपाल ङ्क्षसह निवासी मस्तीपुर, मैसर्स रवेंद्र ङ्क्षसह निवासी नगला उदित दादों शामिल हैं।

 सरकार की नीति जीरो टालरेंस से काम करने की है। परफोर्मेंस ग्रांट जैसे निर्माण कार्य में किसी भी तरह की अनियमितता बर्दाश्त नहीं होगी। डीएम के निर्देश पर चार ठेकेदारों को ब्लैकलिस्टेड करते हुए 78 लाख के कार्यों को श्रमदान घोषित कर दिया है।

-धनंजय जायसवाल, डीपीआरओ