अलीगढ़, जागरण संवाददाता। अदालत में विचाराधीन एक मामले में मुल्जिम के हक में फैसला कराने का झांसा देकर 10 लाख रुपये हड़पने वाली महिला को अकराबाद पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेजा है। आरोप है कि महिला ने एक अन्य महिला से मिलवाया और पैसे दिलवाए थे। इस फर्जीवाड़े में शामिल अन्य लोगों की पुलिस तलाश कर रही है।

यह है मामला

इस संबंध में गांव जिरौली हीरासिंह निवासी मनोरमा देवी ने अकराबाद थाने में 31 जुलाई 2021 को मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें हत्या के मामले में उसके पति व दो बेटे जेल में हैं। इनका केस अदालत में सत्र परीक्षण के दौरान जजमेंट पर चल रहा है। इसकी पैरवी के लिए वह कचहरी आती जाती थी। इसी दौरान गांव के जसवंत सिंह की पत्नी रेखा देवी से उसकी मुलाकात हुई। रेखा अपनी ससुराल में नहीं आती। उसका आना-जाना जयगंज में था।

अदालत ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा

रेखा ने बताया कि उनके हक में फैसला दिलवा देगी। इसके बदले में 10 लाख रुपये मांगे और सेंटर प्वाइंट पर बुलाया। मनोरमा ने अपनी जमीन गिरवी रखकर किसी तरह 10 लाख रुपये का इंतजाम किया और सेंटर प्वाइंट पहुंचीं। वहां रेखा में कार में एक महिला से मिलवाया और 10 लाख रुपये दिलवा दिए। कहा कि आपका काम हो जाएगा। बाद में नौ जुलाई 2021 को अदालत ने तीनों को आजीवन कारावास की सजा सुना दी। जब उसने रेखा देवी से कहा मेरी आपने कोई मदद नहीं की तो वह तरह-तरह के बहाने बनाकर गायब हो गई।

महिला के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

थाने पर भी सुनवाई नहीं हुई तो पीड़िता ने एसएसपी से शिकायत की। इसके बाद रेखा देवी, राजेंद्र व एक अज्ञात महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। थाना प्रभारी रामवकील ने बताया कि आरोपित महिला रेखा देवी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। दूसरी महिला की तलाश की जा रही है।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट