अलीगढ़[जेएनएन]: उत्तर प्रदेश अलीगढ़ के तहसील इगलास के 33 वर्षीय डॉ.अरुण चौधरी ने रात छत्तीसगढ़ के जिला कवर्धा में खुदकशी कर ली। वे वहां के जिला अस्पताल में स्त्रीरोग विशेषज्ञ के पद पर कार्यरत थे। छह साल पहले ही अंतरजातीय शादी की थी। हाथरस जंक्शन में ससुराल है। खुदकशी का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। हालांकि, पत्नी से विवाद बताया जा रहा है। कमरे से सुसाइड नोट मिला है। छत्तीसगढ़ पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट हो सकेगा।

पत्नी खैर में है टीचर

इगलास की अग्रवाल कॉलोनी निवासी नोटरी अधिवक्ता ओमवीर सिंह की चार संतानों में दूसरे नंबर के अरुण की 2016 में नौकरी लगी थी। तभी से वह कवर्धा जिले के सरकारी अस्पताल परिसर स्थित क्वार्टर में रह रहे थे। पत्नी प्रतिभा अलीगढ़ जनपद के खैर क्षेत्र में शिक्षिका हैं। वर्तमान में वह पत्नी के साथ सरकारी क्वार्टर में रह रहे थे।  मंगलवार को ड्यूटी के बाद वह अपने क्वार्टर पर पहुंचे। रात लगभग 11 से 12 बजे के मध्य उनकी पत्नी टहलने घर से बाहर गई थी। लौटकर क्वार्टर आई तो कमरे का दरवाजा बंद था। फोन किया तो फोन रिसीव नहीं हुआ।

दरवाजा तोड़कर निकाला शव

पड़ोसियों व पुलिस को जानकारी दी गई। पुलिस सीढ़ी के सहारे पीछे के दरवाजे तक गई तो शव पंखे से लटका था, जिसे दरवाजा तोड़कर निकाला गया। सूचना मिलने पर अरुण के परिजन डीएम से अनुमति लेकर छत्तीसगढ़ के लिए रवाना हो गए हैं। उनके गुरु वार की देर शाम तक पहुंचने की उम्मीद है।

इगलास में मातम, पिता-मां बेहाल

डॉ. अरुण की मौत की खबर से इगलास में मातम छा गया। सांत्वना देने के लिए अनेक लोग उनके अग्रवाल कॉलोनी स्थित घर पहुंच गए। मां राजवाला देवी का रो-रो कर बुरा हाल है। कई बार बेहोश भी हो गईं। इनकी चार संतानों में सबसे बड़ी बेटी इंदू, अरु ण, वरु ण व महिमा हैं। अरु ण की प्रारंभिक शिक्षा नवोदय विद्यालय में हुई थी। इसके बाद अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से एमबीबीएस की। 2016 में अरु ण छत्तीसगढ़ में स्त्रीरोग विशेषज्ञ के पद पर तैनात हुए। शुदकशी की सूचना पर उनके छोटे भाई व रिश्तेदार छत्तीसगढ़ गए हैं।

अरुण ने किया था प्रेम विवाह

जुलाई 2014 में अरु ण ने हाथरस जंक्शन के गांव ठूलई की प्रतिभा से अंतरजातीय विवाह किया था। वह दीपावली पर घर आए थे। पिता ने बताया कि फोन पर उनकी कवर्धा में बेटे के पड़ोस में रहने वाले लोगों से वार्ता हुई है। उन्होंने बताया है कि खुदकशी से पहले पति-पत्नी में झगड़ा हुआ था।

सिविल सर्जन पर प्रकरण से जांच को जोड़ेगी पुलिस

एक सप्ताह पहले इसी जिला अस्पताल के नियमित डॉक्टरों व मेडिकल स्टॉफ  ने सिविल सर्जन डॉ. सुजॉय मुखर्जी के ऊपर गाली-गलौच व अन्य प्रकार के प्रताडऩा के आरोप लगाए थे। डॉ.अरुण की खुदकशी के मामले को इससे भी जोड़कर पुलिस जांच कर रही है।

सुसाइड नोट बरामद

छत्तीसगढ़ कवर्धा कोतवाली के प्रभारी कवर्धा मुकेश सोम ने बताया कि डॉ. अरुण चौधरी ने फांसी लगाकर खुदकशी की है। मौके से सुसाइड नोट भी बरामद किया है। मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस