हाथरस [जेएनएन]। सासनी में क्षेत्र के गांव वीरनगर में अवसादग्रस्त युवती ने कमरे के गार्डर के कुंदे में फंदा लगाकर जान दे दी। पुलिस भी पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। भाई प्रदीप ने तहरीर में मां की मृत्यु के बाद से अवसाद में होने का जिक्र किया है।

अवसाद में रहती थी नीलम

वीरनगर निवासी भूप ङ्क्षसह की पत्नी की करीब पांच साल पूर्व मौत हो चुकी है। घर में भूप ङ्क्षसह का बेटा प्रदीप और बड़ी बेटी नीलम के अलावा तीन छोटे भाई-बहन और भी हैं। शनिवार की सुबह नीलम खाना बनाकर कमरे के अंदर चली गई। भूप ङ्क्षसह स्वयं अपने काम से बाहर गए हुए थे। बेटा प्रदीप खेत पर काम कर रहा था। छोटे दो भाई स्कूल गए थे, छोटी बहन घर के बाहर खेल रही था। तभी अचानक नीलम ने फांसी का फंदा गले में डाल कर कमरे के गार्डर के कुंदे से लटक गई। जब प्रदीप खेत से घर आया और कमरे में नीलम का शव लटका देखा तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई। शोरगुल सुनकर आसपास के ग्रामीण मौके पर आ गए।

मां की मृत्यु के बाद तनाव में रहती थी नीलम

सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक दलबल सहित मौके पर पहुंचे। नीलम के शव को फंदे से उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। नीलम के भाई प्रदीप ने घटना की तहरीर थाने में दी है, जिसमें लिखा है कि मां की मृत्यु के बाद नीलम तनाव में रहती थी। प्रभारी निरीक्षक पहलवान ङ्क्षसह का कहना है कि सूचना मिलने पर मौके पर जाकर पड़ताल की गई है। पीएम रिपोर्ट का इंतजार है।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस