अलीगढ़, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंलगवार को अलीगढ़ आगमन से पहले ही अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्ना के नाम पर फिर बवाल होने लगा है। अब अलीगढ़ के एक सार्वजनिक शौचालय में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता ने पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना जिन्ना की तस्वीर लगा दी। हालांकि जानकारी होने पर उसको हटा लिया गया है। भाजपा कह रही है, ऐसा करने वाले के खिलाफ कार्रवाई होगी।

अलीगढ़ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आगमन के पहले ही पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर बवाल होने लगा है। सोमवार को कुछ लोगों ने जिन्ना के पोस्टर पर ही जमकर भड़ास निकाली। इसके साथ ही इंटरनेट मीडिया में वायरल वीडियो में एक भाजपा कार्यकर्ता जिन्ना के पोस्टर को टायलेट में डालकर पैरों से रौंदता नजर आ रहा है। इसकी पहचान शिवांग तिवारी के रूप में हुई, जो भाजपा विष्णुपुरी मंडल के मीडिया प्रभारी है। शिवांग तिवारी की मांग है कि एएमयू के यूनियन हाल में लगी जिन्ना की तस्वीर हटाई जाए। इससे कुछ दिन पहले उन्होंने अपने साथियों के साथ पीएम मोदी को खून से लिखा पत्र भी भेजा था।

अलीगढ़ में रविवार रात नौ बजे शिवांग तिवारी ने गांधी गाधीपार्क बस अड्डा स्थित के शौचालय में जिन्ना के कई पोस्टर डालकर फोटो व वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिए। मीडिया में भी वीडियो उपलब्ध करा दिए। शिवांग का कहना है कि देश के टुकड़े करने वाले व्यक्ति के पोस्टर की यही जगह है। जब तक तस्वीर हटाई नहीं जाती, विरोध करते रहेंगे। उधर, इस वीडियो से भाजपा के ही कुछ नेता असहज हो गए।

भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी ने कहा कि भाजपा अनुशासित पार्टी है, विरोध के कई तरीके हैं, ऐसे नहीं करना चाहिए था। भाजपा महानगर अध्यक्ष डा. विवेक सारस्वत ने कहा कि शिवांग तिवारी को वो नहीं जानते हैं। मंडल की कार्यकारिणी बड़ी होती है इसलिए कभी ऐसा नाम सामने नहीं आया। इससे पहले कई बार एएमयू के यूनियन हाल में लगी जिन्ना की तस्वीर को लेकर भी कई बार मामला गरमा चुका है। भाजपा सांसद सतीश गौतम ने तस्वीर को हाल से हटाने के लिए इंतजामिया को पत्र लिखा था, जिसका छात्रों ने विरोध किया था। इसके बाद भी कई बार भाजपा कार्यकर्ता तस्वीर को हटाने के लिए मामला उठा चुके हैं। मगर तस्वीर अभी यूनियन हाल में लगी हुई है। छात्रों के दबाव में इंतजामिया उसे हटा नहीं सकी है।