जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : पंचायत चुनाव 2021 को तमाम परिवार ताउम्र नहीं भूल पाएंगे। कोरोना संक्रमण के दौर में चुनाव की वजह से कई मासूम बच्चों के सिर से मां-पिता का साया उठ गया तो कई परिवारों से बुढ़ापे की लाठी छिन गई। जिले में चुनाव ड्यूटी के दौरान 35 कर्मचारियों की मौत के बाद स्वजनों ने मुआवजे के लिए आवेदन किया है। अब जिला स्तर पर संबंधित विभाग के मुखिया इन आवेदनों का सत्यापन कर रहे हैं।

नए नियम के अनुसार प्रशिक्षण के बाद चुनाव संपन्न होने तक कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों को मुआवजे की श्रेणी में शामिल रखा गया। मृतकों के स्वजन को आवेदन के साथ कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट, मृत्यु प्रमाणपत्र व मृतक का एक फोटो 15 जून तक अपलोड करना था। जिलेभर में 35 मृतक कर्मचारियों के स्वजनों ने आवेदन किया है। अब जिला स्तर पर संबंधित विभाग के मुखिया कर्मचारी की मौत का सत्यापन कर रहे हैं। इसके बाद रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। वहां से 30 लाख मुआवजा मिलेगा। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल कुमार ने बताया कि आवेदनों की जांच की जा रही है।

आश्रितों को नौकरी देने का निर्देश

पंचायत चुनाव में ड्यूटी करने वाले के अलावा कोविड के दौरान हुई सरकारी कर्मियों की मौत के मामले में डीएम ने पहले ही निर्देश दे है कि आश्रितों को तत्काल नौकरी देने के कागजी कार्रवाई पूरी कर ली जाए। विभागाध्यक्षों को यह जिम्मेदारी दी गई है।

......

11 कोरोना संक्रमित स्वस्थ, तीन नए मिले

जास, अलीगढ़ : जिले में शुक्रवार को कोरोना संक्रमण 11 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। तीन नए मरीज भी मिले। सक्रिय मरीजों की संख्या 46 रह गई है। अब छह मरीज ही कोविड अस्पतालों में भर्ती हैं। 23 मरीज होम आइसोलेशन में व 12 जनपद से बाहर हैं।

3525 युवाओं ने लगवाया टीका : शुक्रवार को 55 बूथों पर 18 वर्ष से अधिक आयु के 3525 लोगों ने कोरोना रोधी टीके लगवाए। 8900 लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य था। 25 बूथों पर 45 पार के 1319 लोगों को टीका लगाया गया। इनमें से 872 को पहला व 447 को दूसरा टीका लगा।

Edited By: Jagran