अलीगढ़ (जेएनएन)।  लोकसभा चुनाव को लेकर प्रशासन ने सख्त रुख अख्तियार किया है। अगर कहीं भी कोई व्यक्ति आचार संहिता का उल्लंघन करता है तो 15 मिनट के भीतर फ्लाइंग टीम मौके पर पहुंचेगी। सेक्टर मजिस्ट्रेट, स्टेटिक मजिस्ट्रेट व फ्लाइंग टीम के वाहन जीपीएस से लैस होंगे। इनका नियंत्रण जिला स्तर पर होगा। सभी अफसरों की एक मोबाइल नंबर की एक डायरी बनाई गई है। यह कंट्रोल रूम में रखी जा रही है।

यह दिए निर्देश

गुरुवार को डीएम चंद्रभूषण सिंह की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में सहायक व्यय प्रेक्षक, वीडियो निगरानी अवलोकन टीम, स्टेटिक मजिस्ट्रेट, फ्लाइंग टीम की बैठक हुई। इसमें डीएम ने कहा कि मतदान सभी का अधिकार है। इससे कोई वंचित नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी टीमें अपना काम शुरू कर दें। सभी कमेटियां अपनी-अपनी वीडियोग्राफी जरूर करें। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी शिकयत आती है तो पांच मिनट के भीतर इसे संबंधित क्षेत्र की टीम को भेजा। वह 15 मिनट में मौके पर पहुंचेगी। 30 मिनट में इसका निस्तारण करना होगा। ऐसे में 50 मिनट के अंदर इसकी जानकारी आयोग को भेज दी जाए। अगर किसी भी परिवार का कोई सदस्य अस्पताल में भर्ती है और वह पैसे लेकर इलाज कराने जा रहा है तो उसके साथ अच्छा व्यवहार किया जाए। 10 हजार से अधिक वाले गिफ्ट आइटमों की जांच की जाए। आबकारी विभाग को को जांच करने के निर्देश दिए। सभी टीमें अपने साथ महिला अधिकारियों को भी रखें। इसे महिलाओं की जांच भी जा सके। इस मौके पर सीडीओ अनुनय झा, एडीएम सिटी राकेश मालपाणी, एडीएम प्रशासन कृष्णलाल तिवारी समेत अन्य मौजूद रहे।

वीवी पैट को ज्यादा रोशनी से रखा जाए दूर

लोकसभा चुनाव में पहली बार सभी बूथों पर एक साथ ईवीएम व वीवी पैट का प्रयोग हो रहा है। ऐसे में प्रशासन तैयारियां भी इसी हिसाब से कर रहा है। डीएम ने चुनाव से जुड़े सभी अफसरों व कर्मचारियों से वीवी पैट को ज्यादा रोशन से दूर रखने के निर्देश दिए हैं। गुरुवार को कलक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक में डीएम ने कहा कि सभी पीठासीन व प्रथम मतदान अधिकारी का प्रशिक्षण गुणवत्ता परख किया जाए। मास्टर ट्रेनरों की दिल्ली से प्रशिक्षण कराया जाए। प्रथम चरण के प्रशिक्षण के दौरान ही 12 ए फॉर्म मतदान कर्मी को दिया जाए। चुनाव में लगे हर व्यक्ति से मतदान कराया जाए।

11 अप्रेल को क्वार्सी चौराहे से मीनाक्षी पुल तक बनेगी मानव श्रंखला

 डीएम चंद्रभूषण सिंह की अध्यक्षता में बुधवार मतदान फीसद बढ़ाने को लेकर समाज सेवी संस्थाओं के साथ कलक्ट्रेट में एक बैठक आयोजित की गई। इसमें डीएम ने कहा कि हर बूथ पर चुनावी पाठशालाओं का आयोजन किया जाए। रैली, नुक्कड़ नाटक, पोस्टर, प्रतियोगिताएं शुरू की जाएं। शिक्षित लोग दूसरे लोगों को भी वोट डालने के लिए प्रेरित करें।  उन्होंने कहा कि इस बार 75 फीसद मतदान का लक्ष्य तय किया गया है। अगर सभी लोगों ने सकारात्मक सोच से सहयोग दिया तो ज्यादा दिक्कत नहीं होगी। 16 मार्च तक छूटे लोग भी वोट बढ़वा सकते हैं। डीआईओएस धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि 28 मार्च को रन फॉर वोट मैराथन दौड़ का आयोजन टीकाराम कन्या इण्टर कॉलेज से अहिल्याबाई होल्कर स्पोट्स स्टेडियम तक होगा। आठ अप्रैल को सुबह नौ बजे से स्टेडियम में एक कार्यक्रम होगा। इसी प्रकार माई वोट मैटर 10 अप्रैल को सुबह 10 बजे से होगा। 11 को मानव श्रंखला का आयोजन क्वार्सी चौराहे से मीनाक्षी पुल तक होगा। इसके साथ ही 18 मार्च से 18 अप्रैल तक कार्यक्रम भी कार्यक्रम होंगे।

नोटिस किए जा रहे जारी

आचार संहिता को लेकर प्रशासन ने सोशल मीडिया पर भी नजर रखनी शुरू कर दी है। जिले में एक दर्जन से अधिक ऐसे लोगों को चिन्हित किया है, जिन्होंने व्यक्ति विशेष पर निशाना साधते हुए कमेंट किए हैं। ऐसे में कंट्रोल रूम की टीम इन्हें चिन्हित कर सूची बना ली है। अब इनके खिलाफ नोटिस जारी हो रहे हैं। इसमें दोबारा कोई भी ऐसी कमेंट न करने की हिदायत दी जा रही है।

प्लास्टिक के होर्डिंग-पोस्टर लगाए तो देना होगा जुर्माना

आयोग ने चुनाव को ईको फ्रेंडली बनाने के लिए भी एक आदेश जारी किया है। इस बार किसी भी प्लास्टिक के होर्डिंग पोस्टर का प्रयोग नहीं होगा। इसके लिए सभी पार्टियों के लिए आदेश जारी कर दिया है। अगर कोई भी प्रत्याशी इसे तोड़ता है तो उसे नष्ट करने के लिए नगर निगम व प्रशासन की टीम उससे जुर्माना वसूलेगी। केवल कागज के पंपलेट, बैनर पोस्टर का प्रयोग होगा।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mukesh Chaturvedi