अलीगढ़, जागरण संवाददाता। माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तरप्रदेश (यूपी बोर्ड) की ओर से केंद्र निर्धारण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। सभी केंद्रों पर सीसी टीवी कैमरे व वाइस रिकार्डर लगाए जाएंगे। बोर्ड का सख्त निर्देश है कि अगर परीक्षा के दौरान जिला मुख्यालय पर बने कंट्रोल रूम पर कोई केंद्र आनलाइन नजर नहीं आता तो उसकी रिपोर्ट माध्यमिक शिक्षा विभाग के पोर्टल पर दर्ज की जाए। इस पोर्टल की शासनस्तर से भी निगरानी होगी।

सीसीटीवी कैमरों को शासन से भी आनलाइन जोड़ा जाएगा

परीक्षा केंद्रों में लगे सीसी टीवी कैमरों को शासन से भी आनलाइन जोड़ा जाएगा। इसलिए मुख्यालय पर स्थापित कंट्रोल रूम के अलावा शासनस्तर से भी किसी भी केंद्र की गतिविधि पर नजर रखी जा सकती है। डीआइओएस डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि कंट्रोल रूम में तैनात होने वाली टीम ऐसे केंद्रों की रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड कर देगी जो आनलाइन रहने में कोताही बरतेंगे। सभी केंद्रों पर बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए जनरेटर रखना भी अनिवार्य है। साथ ही पांच जीबी हाईस्पीड इंटरनेट ब्राडबैंड भी रखना अनिवार्य है। परीक्षा की शुचिता के संबंध में कोई लापरवाही स्वीकार्य नहीं होगी। गड़बड़ी करने वालों केंद्रों के खिलाफ मान्यता प्रत्याहरण की कार्रवाई की जाएगी।

रैन बसेरों में तैनात कर्मियों के बनेंगे पहचान पत्र

जासं, अलीगढ़ : सर्द रातों में असहाय लोग खुले में न सोएं, इसके लिए नगर निगम स्थाई रैन बसेरों में व्यवस्थाएं दुरुस्त करा रहा है। अस्थाई रैन बसेरे भी जल्द ही स्थापित किए जाएंगे। रैन बसेरों में तैनात कर्मचारियों के इस बार पहचान पत्र बनेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से यह निर्णय लिया गया है। सोमवार को नगर आयुक्त गौरांग राठी ने गूलर रोड स्थित स्थाई रैन बसेरा का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

कर्मचारियों को दिए जाएंगे पहचान पत्र

नगर आयुक्त ने बताया कि रैन बसेरों में सीसीटीवी कैमरे, पेयजल, रजाई-गद्दे, शौचालय आदि व्यवस्थाओं को बेहतर करने के निर्देश दिए गए हैं। यहां तैनात कर्मचारियों को पहचान पत्र दिए जाएंगे, जिससे उनकी पहचान करना आसान हो और आश्रय पाने के लिए रैन बसेरों में आए लोगों का पता चल सके कि वे निगम कर्मी हैं। आश्रय पाने वाले लोगों का विवरण रजिस्टर में अंकित करना होगा। रैन बसेराें में काेविड- 19 हेल्प डेस्क भी स्थापित की जाएगी। नगर आयुक्त ने बताया कि कोई असहाय व्यक्ति खुले में न सोए, इसके लिए सभी विभागों के दायित्व निर्धारित किए गए हैं। अस्थाई रैन बसेरों के लिए टेंडर निकाले जा रहे हैं। गांधीपार्क व गूलर रोड पर हैजा अस्पताल के नीचे बने स्थाई रैन बसेरे में महिला व पुरुषों के रुकने की व्यवस्था है। भुजपुरा स्थित रैन बसेरा में महिला, पुरुष व बच्चों के लिए भी व्यवस्था रहेगी। निरीक्षण के दौरान मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय राय, कर निर्धारण अधिकारी आरपी सिंह, अधिशासी अभियंता अशोक भाटी, कर अधीक्षक राजेश जैन आदि मौजूद रहे।

Edited By: Anil Kushwaha