हाथरस [ जेएनएन ] : यूं तो हमें पुलिस का मित्र कहा जाता है क्योंकि क्षेत्र में होने वाली हर छोटी-बड़ी घटनाओं की सूचना हम पुलिस को देते हैं, पुलिस कि लापरवाही को देखतेेे हुए अगर हम उसको कुछ भी बोलते है। तामगर थानों में मुंशी से लेकर दारोगा तक भोजन के बाद अपने बर्तन हमसे धुलवाते हैं, थाने में झाडू तक लगवाते हैं। ये काम न करने पर थाने से भगा देने की धमकी देते हैं।गुरुवार को जिलेभर से आए चौकीदारों ने कलक्ट्रेट में सीडीओ को अपनी व्यथा बताई।इस दौरान उन्होंने सीएम के नाम एक ज्ञापन दिया जिसके जरिए राज्य कर्मचारी घोषित करने की मांग की है। 
 
एक ज्ञापन सीएम को संबोधित दिया
ग्रामीण चौकीदार वेलफेयर एसोसियेशन के अध्यक्ष नीटू चौधरी की अगुवाई में चौकीदारों का समूह गुरुवार को कलक्ट्रेट में कार्यवाहक डीएम एवं सीडीओ आरबी भास्कर से मिले और उनको एक ज्ञापन सीएम को संबोधित दिया। ज्ञापन में कहा गया कि हमें अंग्रेजी शासन से ही अल्प वेतन पर रखा गया है।
 
एक सम्मेलन बुलाकर उनकी समस्याओं को सुनकर समाधान कराएं
आज हमें 2500 रुपये महीने मिलता है, जो महंगाई के इस दौर में नाकाफी है। हम मांग करते हैं कि चौकीदारों को राज्य कर्मचारी घोषित किया जाए। डीएम से मांग की गई कि एक सम्मेलन बुलाकर उनकी समस्याओं को सुनकर समाधान कराएं। ज्ञापन देने वालों में इदरीश, सुरेश और मदन सिंह, सूरजपाल  बनवारी लाल, रामपाल सिंह, भोलंबर, राजकुमार, परवेज, ओमवीर, भीकम सिंह, चरन सिंह आदि शामिल रहे। 

Posted By: Mukesh Chaturvedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस