अलीगढ़, जागरण संवाददाता। ज्ञानवापी मस्जिद प्रकरण में बयान पर सपा महिला सभा के महानगर अध्यक्ष पद से पदमुक्त की गईं रुबीना खानम से राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम ने फ़ोन पर बात कर हालचाल जाना। रुबीना को मिल रही धमकियों का संज्ञान लेते हुए उन्हें सुरक्षा दिलवाने का आश्वासन दिया। रुबीना खानम ने प्रदेश सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा कि अपने समाज के उत्थान के लिए उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने व राष्ट्र की सेवा में राष्ट्रहित की राजनीति अपनी अंतिम सांस तक करती रहूंगी। देश की सेवा के मार्ग में आने वाली हर राष्ट्रविरोधी ताकत को हराना ही मेरा लक्ष्य है। मस्जिद प्रकरण में बयान देने पर पार्टी हाईकमान ने शनिवार को उन्हें पदमुक्त कर दिया था।

यह है मामला

समाजवादी पार्टी ने सपा महिला सभा की महानगर अध्यक्ष रुबीना खानम को अनुशासनहीनता में पद से मुक्त कर दिया है। रुबीना ने पिछले दिनों ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर बयान दिया था। कहा था, ज्ञानवापी मस्जिद अगर मंदिर तोड़कर बनाई गई है तो इसे हिंदुओं को दे देना चाहिए। रुबीना ने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। रुबीना खानम ने पिछले दिनों मीडिया को दिए बयान में कहा था कि अगर हमारे किसी शासक ने बलपूर्वक मंदिर पर कब्जा कर मस्जिद बनाई थी तो हमें इसे छोड़ देना चाहिए, दूसरे धर्म की आस्था को कुचलकर मस्जिद बनाना इस्लाम के सिद्धांतों का उल्लंघन है। हमारे मुस्लिम धर्म गुरुओं को यह सोचना चाहिए। रुबीना का यह बयान वायरल हुआ था। इसकी गूंज पार्टी मुख्यालय तक भी पहुंच गई। शनिवार को सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने एक पत्र जारी कर रुबीना खानम को अनुशासहीनता में महानगर अध्यक्ष पद से पदम मुक्त कर दिया। इस पर रुबीना खानम ने कहा है कि जब हमने राष्ट्रहित की बात की, सत्य की बात की। सभी धर्मों का सम्मान करते हुए हिंदू धर्म की आस्था का सम्मान करते हुए बहुसंख्यकों की भी बात की, सपा के लिए ये अनुशासनहीनता हो गई।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena