अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  नवमी पर गुरुवार को पूरा शहर आस्था के सैलाब में डूब गया। देवी मंदिरों में बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं ने मां के दर्शन किए। दुर्गा माता के जयकारों से मंदिर गूंज उठा। मंदिरों में सुबह से ही भजन-कीर्तन शुरू हो गए थे। नौरंगाबाद स्थित नौ देवी मंदिर पर श्रद्धालुओं की लंबी कतार लगी हुई थी। वहीं, पथवारी मंदिर पर भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रह। घरों पर कन्या लांगुरा जिमाए गए। आदर के साथ कन्याओं को प्रसाद ग्रहण कराया गया।

तड़के चार बजे से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने लगी थी

गुरुवार को तड़के चार बजे से ही श्रद्धालुओं की भीड़ मंदिरों की ओर बढ़ने लगी थी। नवमी पर हर कोई मां के दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त करना चाह रहा था। महिलाएं नंगे पांव हाथ में पूजन की सामग्री लेकर मंदिरों की ओर बढ़ रही थीं। तमाम जगहों पर महिलाएं भजन-कीर्तन करते हुए चल रही थीं। नौरंगाबाद स्थित नौ देवी मंदिर पर सुबह से ही दर्शन शुरू हो गया। मां को धूप-दीप, नारियल, चुनरी, लौंग आदि अर्पित किया। नौ देवी मइया के जयकारे से पूरा मंदिर परिसर गूंज उठा। छह बजे तक स्थिति यह रही कि मंदिर में पैर रखने की जगह नहीं थी। पुलिस को व्यवस्था संभाली पड़ी। अचलताल तो देवी नगरी के रुप में परिवर्तित हो गया था। यहां नौ देवी, महागौरी मंदिर, गायत्री मंदिर आदि में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। मां के जयकारे गूंज रहे थे। कन्याओं को प्रसाद ग्रहण कराया गया। गांधीपार्क स्थित चामुंडा देवी मंदिर में भी श्रद्धालुओं ने बड़ी संख्या में दर्शन किए। यहां सुबह से ही भंडारा शुरू हो गया था। भक्त मां के दर्शन कर रहे थे। सासनीगेट और महेंद्र नगर स्थित काली माता मंदिर में भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। मेलरोज बाईपास स्थित कामाख्या मंदिर में भी भक्तों की कतार लगी हुई थी।

पथवारी मइया का किया दर्शन

हाथरस अड्डा स्थित पथवारी मइया मंदिर पर भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने मां के दर्शन किए। मां को पुष्प, धूप-दीप अर्पित कर दरबार में माथा टेका। दुबे पड़ाव, रामघाट रोड, भमौला, नगला तिकोना, सुरेंद्र नगर आदि पथवारी मंदिरों पर भी श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। मां के जयकारों से मंदिर गूंज उठे।

कन्याओं का किया पूजन

नवमी पर कन्याओं का पूजन किया गया। घर पर आदर के साथ कन्याओं को बुलाया गया। उनके पांव धुले गए। आसन पर बिठाया गया और प्रसाद ग्रहण कराया गया। परिवार के सदस्यों ने कन्याओं की आरती की। उन्हें दान-दक्षिणा दिया गया। देवी मंदिरों पर भी बड़ी संख्या में उपस्थित कन्याओं को प्रसाद ग्रहण कराया गया। रामघाट रोड स्थित नवदुर्गा मंदिर पर भी सुबह से कन्याओं को प्रसाद ग्रहण करने वालों की होड़ सी मची हुई थी।

Edited By: Anil Kushwaha