अलीगढ़, जागरण संवाददाता। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की भर्ती प्रक्रिया में आनलाइन फार्म भरे जाने के बाद अब सिफारिशों का खेल शुरू हो गया है। आवेदक जनप्रतिनिधियों से लेकर अफसरों तक से फोन करा रहे हैं। वहीं, भर्ती के नाम पर कुछ बिचौलिया भी सक्रिय हो गए हैं। कुछ लोग नौकरी दिलाने के नाम पर वसूली का खेल कर रहे हैं। हालांकि, विभागीय अफसरों ने अपने कार्यालयों में नोटिस चस्पा कर रखे हैं कि कोई भी दलालों के फेर में न फंसे। सीधे आनलाइन आवेदकों के माध्यम से मैरिट के आधार पर ही भर्ती होनी हैं।

आफ लाइन आवेदन मान्‍य नहीं

जिले में कुल 3039 आंगनबाड़ी केंद्र हैं। इन केंद्रों पर पिछले काफी समय से आंगनबाड़ कार्यकर्ता व सहायिका के पद रिक्त चल रहे हैं। ऐसे में पिछले दिनों इन पदों के लिए भर्ती के आदेश जारी कर दिए गए थे। जिले में कुल 822 पदों पर भर्ती होनी हैं। इसमें 393 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, 25 मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व 394 सहायिकाएं भी शामिल हैं। अगस्त से इन पदों के लिए आनलाइन आवेदन हुए हैं। जिले में अब तक बड़ी संख्या में आवेदन आए हैं। अधिकतर पदों पर तीन से अधिक आवेदन हैं। वहीं, आवेदन का सिलसिला अभी चल रहा है। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रेयस कुमार ने बताया कि शासन स्तर से पारदर्शिता के लिए भर्ती प्रक्रिया को आनलाइन किया गया है। आवेदन से लेकर मैरिट तक का काम आनलाइन ही होना है। शासन स्तर से इसके लिए एक वेबसाइट बनाई गई है। आफलाइन आवेदन मान्य नहीं होंगे। आंगनबाड़ी कायकर्ता एवं एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता हाईस्कूल व सहायिका के लिए पांचवी पास होना जरूरी है। आवेदिका को रिक्त पद के गांव या वार्ड का निवार्सी होना अनिवार्य है। विधवा, तलाकशुदा व गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली आवेदिकाओं को प्राथमिकता मिलेगी। उन्होंने बताया कि अभी आनलाइन प्रक्रिया चल रही है। पिछले दिनों तकनीकी खामी के चलते बिजौली ब्लाक की भर्ती प्रक्रिया रुकी हुई थी, लेकिन अब इसकी भी शुरुआत हो गई है। जिले में कोई भी व्यक्ति इसके लिए आवेदन कर सकता है।