अलीगढ़ (जेएनएन)।  छर्रा-गंगीरी मार्ग पर रविवार देर रात तेज रफ्तार ट्रक ने गंगा स्नानार्थियों से लदे टै्रक्टर-ट्रॉली में टक्कर मार दी। इस भीषण भिड़ंत में ट्रैक्टर सवार दो किशोरों व चार  महिलाओं की मौत हुई है।  कई लोग घायल हुए हैं। ये लोग नरोरा घाट जा रहे थे।

गंगा नहाने गए थे

अकराबाद क्षेत्र के गांव जिरौली हीरा सिंह के ग्रामीणों ने गांव में भागवत कथा कराई थी। 13 जून को कथा का समापन और अगले दिन भंडारा कराया। रविवार को 60-70 ग्रामीण गंगा में कलश सिराने व स्नान के लिए दो टै्रक्टर-टॉली से नरोरा घाट के लिए रवाना हुए। रात 10 बजे टै्रक्टर जब छर्रा क्षेत्र में छर्रा-गंगीरी मार्ग पर गांव रुखाला से होकर गुजर रहे थे, तभी सामने से आए बेकाबू ट्रक ने आगे वाले ट्रैक्टर में टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि स्नानार्थियों से लदा टै्रक्टर पलट गया। वहीं, ट्रक  खोखे को रौंदता हुआ विद्युत पोल से जा टकराया। शुक्र रहा उस वक्त विद्युत सप्लाई बंद थी।

इनकी हुई मौत

हादसे में जिरौली हीरा सिंह निवासी राजबाला (50) पत्नी शिवेंद्र पाल सिंह, शिवकुमारी (55) पत्नी तोषण पाल सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। देर रात किशन प्यारी (55) पत्नी मदन लाल, रजनी (58) पत्नी योगेंद्र पाल सिंह, गोलू पुत्र शीलू व रामू पुत्र पुरुषोत्तम ने मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ दिया। डेढ़ दर्जन लोग घायल हुए। इन्हें जिला मलखान सिंह अस्पताल से जेएन मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया। सूचना पर एसपी देहात मणिलाल पाटीदार आधा दर्जन थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। हादसे के बाद वहां जाम के हालात हो गए। देररात क्रेन की मदद से दोनों वाहनों को हटाया गया। एसपी देहात ने बताया कि ट्रक चालक के खिलाफ रिपोर्ट की जा रही है।

हाईस्पीड बन रही हादसों का सबब

सड़क हादसों नर नजर डालें तो हर रोज किसी न किसी परिवार की दुनिया उजड़ रही है। जनवरी से अब तक 212 सड़क हादसों में 162 मौत हो चुकी हैं। फिर भी जर्जर सड़कों की किसी को चिंता है, न ट्रैफिक नियमों का पालन कराने की। ट्रैफिक पुलिस के आंकड़ों में इन हादसों का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है।

जिले में प्रमुख सड़क हादसे

12 फरवरी 2017 - मडराक में मिनी बस-ट्रक भिडंत में आठ की मौत।

26 नवंबर 2017- खैर-सोफा में कार पलटने से पांच की मौत।

29 नवंबर 2017 - अकराबाद में दंपती व बेटी समेत तीन की मौत।

30 नवंबर 2017- गांधीपार्क में पिता-पुत्र की मौत।

01 फरवरी 2018- अतरौली में नाले में कार पलटने से दारोगा समेत सात की मौत।

21 मार्च 2018-गभाना में ट्रक-बस भिडंत में तीन की मौत।

01 जुलाई 2018- टप्पल में एक्सप्रेस वे पर बस पलटने से 60 सवारियां घायल, दो की मौत।

04 सितंबर 2018- मडराक में बरात की बस व डग्गेमार मिनी बस की टक्कर से 13 लोगों की मौत।

19 नवंबर 2018- गभाना में दौरऊ मोड़ पर रोडवेज-ट्रक भिडंत में सात की मौत।

--------------

चार साल में हुए सड़क हादसों का विवरण

वर्ष, दुर्घटना, मृतक, घायल

2016, 790, 438,639

2017, 882, 580,392

2018,507,417, 298

2019, 212, 162, 208

(सड़क हादसों के आंकड़े 15 जून 2019 तक)

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mukesh Chaturvedi