हाथरस, जागरण संवाददाता। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ के निर्देशन में छात्र दिवस के अवसर पर सरस्वती महाविद्यालय, हाथरस में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।

पूर्व राष्‍ट्रपति एपीजे अब्‍दुल कलाम के जन्‍मदिन पर मनाया जाता है अंतरराष्‍ट्रीय छात्र दिवस

जनपद न्यायाधीश मृदुला कुमार के आदेशानुसार ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ के दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, हाथरस के तत्वावधान में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, हाथरस की सचिव चेतना सिंह के मार्गदर्शन में मिक्की सिंह, सिविल जज की अध्यक्षता में किया गया। जिला प्रोबेशन अधिकारी डीके सिंह, हरीश शर्मा, वरिष्ठ अधिवक्ता, सरस्वती महाविद्यालय के प्रोफेसर स्वतेन्द्र सिंह एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के विभागाध्यक्ष डा. देव प्रकाश, जीवन लाल शर्मा एवं हेमन्त शर्मा की उपस्थिति में मिक्की सिंह, सिविल जज ने कहा कि आज अन्तर्राष्ट्रीय छात्र दिवस है, जो हर साल की तरह आज पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के जन्मदिन पर उनकी यादों में वर्ल्ड स्टूडेंट डे मनाया जा रहा है। कलाम ने बच्चों की शिक्षा पर काफी जोर दिया और उन्हें बच्चों से काफी लगाव था। कलाम एक जाने माने प्रसिद्ध वैज्ञानिक थे, उनके मिसाइल डिफेंस प्रोग्राम ने पूरी दुनिया में भारत का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया। यही वजह है कि उन्हें भारत का मिसाइल मैन भी कहा जाता है। बच्चों को पढ़ाना उनका पसंदीदा काम था। कलाम ने सन 1998 में पोखरण-2 परमाणु परीक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, इसके बाद ही इन्हें मिसाइल मैन का टाइटल मिला।

लड़का - लड़की में भेदभाव नहीं होना चाहिए

जिला प्रोबेशन अधिकारी डी के सिंह कहा कि आज हम आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान अन्तर्राष्ट्रीय छात्र दिवस मना रहे हैं। महोत्सव मनाने का उद्देश्य सभी, का ध्यान आकृष्ट करना और उन्हें याद दिलाना है। उन्होने कहा कि सभी छात्रों को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पूर्ण निष्ठा के साथ पढ़ना चाहिए। लड़का हो या लड़की कोई भेदभाव नहीं होता है सभी को समानता का अधिकार प्राप्त है। सिंह ने कहा कि लड़का-लड़की में जिस दिन भेद समाप्त हो जाएगा उस दिन स्वतः ही भ्रूण हत्या समाप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि आज के दिन ही अब्दुल कलाम का जन्म हुआ था। इसके अतिरिक्त उन्होने कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना एवं पेंशन योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

राष्‍ट्र के विकास में छात्रों की भूमिका अहम

वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश शर्मा ने प्राधिकरण की स्कीमों के बारे में एवं सूचना का अधिकार अधिनियम, निश्शुल्क विधिक सहायता पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी गयी। जयप्रकाश तिवारी अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार एसोसिएशन हाथरस ने अपने वक्तव्य में कहा कि सभी छात्रों को पूरी लगन के साथ पढ़ना चाहिए। राष्ट्र के विकास में छा़त्रों की अहम भूमिका होती है। विधिक साक्षरता शिविर का सफल संचालन करते हुए डा. देवप्रकाश विभागाध्यक्ष राष्ट्रीय सेवा योजना ने सभी छात्र-छात्राओं को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की सलाह दी तथा जिन छात्रों को दो वर्ष पूर्ण हो चुके हैं, उनको सुश्री मिक्की सिंह, सिविल जज के माध्यम से छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र वितरित किये गये। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण हाथरस की ओर से सभी छात्र-छात्राओं को पंपलेट्स वितरित किये गये, गांव, शहर, मोहल्ले में जन-जन को पम्पलेट्स वितरित करते हुए प्राधिकरण के उद्देश्यों की जानकारियॉ उपलब्ध करायें जिससे प्रत्येक व्यक्ति को प्राधिकरण की जानकारी प्राप्त हो सके।

Edited By: Anil Kushwaha