अलीगढ़ : खैर तहसील में हरपाल गुट के किसानों ने राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को महंगाई के विरोध में ज्ञापन सौंपा। किसान नेताओं ने कहा कि महंगाई दिन रोज बढ़ती जा रही है। डीजल पेट्रोल व घरेलू गैस महंगी हो चुकी है, जिससे आम आदमी का बजट पूरी तरह से बिगड़ गया है। किसान की फसल का उचित भाव नहीं मिल रहा है। अच्छे दिनों का वायदा करने वाली मोदी सरकार और भाजपा लगातार पेट्रोल, डीजल, गैस और खाद्य पदार्थों के दाम बढ़ाकर लोगों से धोखा कर रही है। आम आदमी महंगाई से कराह रहा है, लेकिन केंद्र सरकार मूकदर्शक बनी हुई है। सरकार किसानों व आम जनता की किसी बात पर ध्यान नहीं दे रही है। धरने के बाद जिला उपाध्यक्ष चौधरी महावीर सिंह के नेतृत्व में एसडीएम अंजनी कुमार सिंह को किसानों की समस्याओं के संबंध में ज्ञापन भी सौंपा। उन्होंने एसडीएम से किसानों की बिजली, पानी सहित अन्य समस्याओं का जल्द समाधान करवाने की मांग की। एसडीएम समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। ज्ञापन देने वालों में चौधरी हरपाल सिंह, हरीओम सिंह, कृष्पाल सिंह, कालीचरन, भूरा सिंह, गुलवीर, जयप्रकाश सिंह, देवेंद्र सिंह, महावीर सिंह आदि रहे।

पंचायत में रखी किसानों की समस्याएं

संसू, इगलास : भारतीय किसान यूनियन टिकैट गुट की पंचायत ब्लाक परिसर में हुई, जिसमें किसानों की समस्याएं रखी गई। उनके निदान के संबंध में मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन बीडीओ को सौंपा। वक्ताओं ने कहा कि क्षेत्र में बाजरा की फसल के लिए सरकार की उदासीनता के चलते कहीं सरकारी खरीद केंद्र नहीं खोला गया है। किसानों से 1200 रुपये प्रति कुंतल बाजरा खरीद जा रहा है। जबकि सरकार ने 2250 रुपये प्रति कुंतल भाव तय किया है। वहीं उन्होंने बाजरा क्रय केंद्र खोले जाने, नहर व रजबहों में टेल तक पानी पहुंचाने, 18 घंटे विद्युत आपूर्ति की मांग की। अध्यक्षता साहब सिंह व संचालन मुकेश शर्मा ने किया। इस मौके पर राजपाल शर्मा, सुरेंद्र सिंह, अर्जुन सिंह, कालीचरन, रामबाबू, दिनेश सिंह, जयपाल सिंह आदि थे।

Edited By: Jagran