अलीगढ़, जेएनएन । हाथरस के कस्बा मेंडू से शादी समारोह में शहर में भाग लेने आए लालाराम पिछले आठ माह से पुलिस के चक्कर काट रहे है। समारोह से वापसी में उनका लाखों के जेवरात से भरा बैग गायब हो गया था। सासनीगेट पुलिस गायब हुए इस बैग का अब तक सुराग नहीं लगा सकी है।

12 नवंबर 2020 की घटना

कारोबारी लालाराम 12 नवंबर 2020 को शहर में अपने रिश्तेदार के यहां शादी समारोह में भाग लेने आए थे। देर रात समारोह से लालाराम पत्नी व स्वजन के साथ वापस घर जा रहे थे। गांधीपार्क बस स्टैंड से रोडवेज बस में सवार हुए। लालाराम ने जेवरात व नकदी से भरे हुए बैग को बस की सीट के नीचे रख लिया। रास्ते में सासनीगेट चौराहे के पास बैग से उन्हें कुछ सामान निकालने की जरुरत हुई। जैसे ही उन्होंने बैग निकाला किसी शातिर ने बैग में रखे करीब 10 लाख कीमत के जेवरात के साथ ही 10 हजार रुपये की नकदी पार कर दी। बैग का एक हिस्सा कटा हुआ भी था। यह देख लालाराम के होश उड़ गए। उन्होंने शोर मचाने के साथ ही बस में सवार एक संदिग्ध युवक को पकड़ लिया। इसी बीच युवक धक्का देकर बस से उतरकर भाग गया।

एक सप्ताह तक दो थानों के बीच भटकते रहे

पीड़ित कारोबारी अपनी शिकायत लेकर सासनीगेट थाने पहुंचे। यहां से पुलिस ने घटनास्थल गांधीपार्क क्षेत्र का बताकर टरका दिया। गांधीपार्क पहुंचे तो वहां से उन्हें सासनीगेट भेज दिया गया । एक सप्ताह तक पीड़ित दोनों थानों की परिक्रमा लगाते रहे। आखिरकार एसएसपी से मिलकर शिकायत की तो पुलिस ने 22 नवंबर को मुकदमा दर्ज किया। इसके बाद से अब तक पुलिस गायब हुए लाखों की कीमत के जेवरात का सुराग नहीं लगा सकी है। इसको लेकर पीड़ित रोज ही थाने व पुलिस अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काटने को मजबूर है।

इनका कहना है

बस से गायब हुए जेवरात से भरे बैग की तलाश की जा रही है। माल व नकदी गायब करने वालों को पकड़कर घटना का जल्द राजफाश किया जाएगा।

- कुलदीप सिंह गुनावत,एसपी सिटी

Edited By: Anil Kushwaha