अलीगढ़ [जेएनएन]: जलाली नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी (ईओ) पर प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर 10 हजार रुपये घूस मांगने का आरोप लगा है। डीएम वार रूम पर वीडियो के माध्यम से इसकी शिकायत की गई। डीएम ने एडीएम प्रशासन को जांच सौंपी है। सोशल मीडिया पर भी यह वीडियो वायरल हो रहा है। एडीएम प्रशासन कृष्णलाल तिवारी ने बताया कि जांच चल रही है। जल्द कोई फैसला लिया जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना का है मामला

इसी वीडियो को डीएम वार रूम पर डाला गया। इसमें जलाली नगर पंचायत के ईओ, बाबू व फरियादी दिखाई दे रहे हैं। तीनों लोग आपस में प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास को लेकर बातचीत कर रहे है। शिकायतकर्ता का दावा है कि लाभार्थी से अधिशासी अधिकारी योजना में आवास लेने के बारे में जानकारी कर रहे हैं। वे पूछते हैं कि आवास के लिए डूडा में क्या दे रहे हो। लाभार्थी डूडा के बारे में कोई जानकारी न होने की बात कहता है।

आवाज बदलकर सोशल मीडिया पर डाला

आरोप हैं कि ईओ उससे 10 हजार रुपये की मांग करते हैं। ईओ नीलाभ शल्य का कहना है कि वीडियो फर्जी हैं। आवाज बदलकर सोशल मीडिया पर डाला गया है। जांच में सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा। एडीएम प्रशासन कृष्णलाल तिवारी ने बताया कि जांच चल रही है। जल्द कोई फैसला लिया जाएगा।

पहले भी हो चुके हैं ऐसे मामले

अलीगढ़ में रिश्वत लेने के मामले पहले भी उजागर हो चुके हैं। इगलास में एसडीएम कार्यालय के एक बाबू का रिश्वत लेने का मामला जोर से उठा था। कार्रवाई नहीं होने पर भारतीय किसान यूनियन ने भी धरना दिया था। इस धरने को अन्य कई संगठनों ने समर्थन दिया था। इस धरने पर जनप्रतिनिधि भी पहुंचे थे। उन्ही के हस्तक्षेप से धरना समाप्त हो गया था। अहम बात यह है कि रिश्वत लेने के वालों के खिलाफ यदि सख्त कार्रवाई हो जाए तो कुछ हद तक रिश्वत के मामलों पर अंकुश लग सकता है।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस