अलीगढ़, जेएनएन।  प्रदेश में मानसून की दस्तक के साथ तापमान में गिरावट आ गई है। 40 पार रहने वाला तापमान अब 34 डिग्री पर आ ठहरा है। रविवार दोपहर को बादलों की आड़ में धूप का असर भी कम ही रहा। वहीं रात में हवाएं चलने में मौसम ठंडा हो गया। सोमवार को सुबह से ही मौसम साफ था। लोगों ने छतों पर व्यायाम कर व पार्कों में घूमकर मौसम का आनंद लिया। इधर, मौसम विभाग ने कई जिलों में बारिश होने की संभावना जताई है।

महीने की शुरुआत में हाल बेहाल था

जून की शुरुआत में गर्मी से लोगों का बुरा हाल था। पारा 42 तक हो जाने के चलते घरों में पंखे-कूलर भी जवाब दे गए। वहीं चार-पांच दिनों से मौसम में बदलाव आया है। उतार-चढ़ाव के बीच उमस तो जारी है। लेकिन, गर्मी से लोगों को राहत जरूर मिली है। सुबह तेज धूप होती है तो दिन में बादलों में ओट में सूरज ढंक जाता है। रविवार को भी दोपहर में सूर्यदेव ने लोगों को परेशान किया। लेकिन, दोपहर तीन बजे अचानक मौसम बदला और देहात के कुछ इलाकों में बारिश भी हुई। इससे मौसम ठंडा हो गया। हालांकि शहरी इलाकों में बारिश नहीं पड़ी। यहां उमस भी रही, मगर रात में ठंडी हवाएं चलने से तापमान में गिरावट आ गई। सोमवार को अधिकतम तापमान 34 डिग्री, जबकि न्यूनतम तापमान 26 डिग्री दर्ज किया गया। सुबह ही सूर्यदेव ने दर्शन दे दिए। दोपहर 10 बजे तक मौसम में ठंडक का एहसास था। इधर, दक्षिणी पश्चिम मानसून ने प्रदेश में दस्तक दे दी है। मौसम विभाग के मुताबिक, कई जिलों में बारिश होगी।

बीमारियों का खतरा

चिकित्सकों के अनुसार यह मौसम बैक्टीरिया व वायरस के पनपने के लिए अनुकूल है। स्वच्छता व डि-हाइड्रेशन का ध्यान न रखा जाए तो उल्टी-दस्त व डायरिया का प्रकोप और बढ़ सकता है। मच्छरजनित बीमारियों-मलेरिया, डेंगू व चिकनगुनिया के मरीज भी इस मौसम में बढ़ने शुरू हो जाते हैं। ऐसे में सावधानी बरतें।

 

Edited By: Anil Kushwaha