अलीगढ़, जेएनएन। शनिवार को शहर के आठ केंद्रों पर प्रशिक्षित स्नातक जीव विज्ञान परीक्षा का आयोजन किया गया। इसमें कुल पंजीकृत 3445 परीक्षार्थियों में से 1057 ही शामिल हुए। 2388 ने परीक्षा देने से पहले ही मैदान छोड़ दिया। डीएम सेल्वा कुमारी जे व एडीएम सिटी राकेश मालपाणि ने पुलिस-प्रशासनिक अफसरों के साथ कई परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। संबंधित केंद्र प्रभारियों को नकल विहीन परीक्षा आयोजित कराने के निर्देश दिए। डीएम के औचक निरीक्षण से कालेज की शिक्षकों में खलबली मच गई।

डीएम के पहुंचते ही मची खलबली

प्रशिक्षित स्नातक जीव विज्ञान परीक्षा के लिए जिले में कुल आठ केंद्र बनाए गए थे। इन सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था की गई थी। सुबह से परीक्षा की शुरुआत हुई। इसमें नौरंगीलाल राजकीय इंटर कालेज, टीकाराम कन्या इंटर कालेज, डीएवी इंटर कालेज,रतन प्रेम डीएवी गर्ल्स इण्टर कालेज, एसएमबी इंटर कालेज, एसबी इंटर कालेज चिरंजीलाल बालिका इंटर कालेज में 480-480 परीक्षार्थियों के सापेक्ष क्रमश 164, 165, 175, 104, 128, 164, 137 परीक्षार्थी शामिल हुए। वहीं, धर्म समाज कालेज में 85 परीक्षार्थियों के सापेक्ष 20 परीक्षार्थी उपथित रहे। जिले में कुल परीक्षार्थियों का फीसद 30.68 रहा। 2388 परीक्षार्थियों ने पहले ही मैदान छोड़ दिया। डीएम सेल्वा कुमारी जे ने एडीएम सिटी के साथ कई केंद्रों का निरीक्षण किया। इसमें वह सबसे पहले टीकाराम कन्या इंटर कालेज में पहुंची। यश्हां 20 कक्षों में परीक्षा चल रही थी। उन्होंने सीसीटीवी कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। इसमें कुछ कैमरों में धुंधली तस्वीर दिखाई दी। इस पर डीएम ने इन्हें साफ करने के निर्देश दिए। यहां से वह एसएमबी इंटर कालेज में पहुंची। यहां के भी 20 कक्षों में परीक्षा होती मिली। इसमें कुछ केंद्रों पर बेहतर प्रकाश की व्यवस्था नहीं थी। ऐसे में डीएम ने सभी कक्षों में पर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। यहां भी कुछ कैमरों में परीक्षार्थियों की तस्वीर साफ नहीं आ रही थी। ऐसे में डीएम ने इनमें भी सुधार के निर्देश दिए। वहीं, अन्य मजिस्ट्रेट भी विभिन्न केंद्रों पर जांच के लिए दौड़ते रहे।