अलीगढ़ (जेएनएन)। धम्म चेतना यात्रा लेकर अलीगढ़ पहुंचे पूर्व सांसद एवं अखिल भारतीय भिक्षु संघ के नायक भदंत धम्म वीरियो ने दावा किया है कि अयोध्या में विवादित स्थल रामजन्म भूमि नहीं, बुद्ध विहार था। पुरातत्व विभाग इसकी खुदाई करे तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

उत्तर प्रदेश के राजनीतिक समाचारों के लिये यहां क्लिक करें

उत्तर प्रदेश के अन्य समाचार पढऩे के लिये यहां क्लिक

यहां तरुण वैली में प्रेसवार्ता के दौरान पूर्व सांसद ने कहा कि अयोध्या में खुदाई हो तो बुद्ध विहार निकलेगा। विवादित स्थल पर हिंदू और मुस्लिमों का दावा गलत है। विवादित स्थल की कानूनी लड़ाई में हिंदू-मुस्लिम तो पक्षकार हैं, बौद्ध क्यों नहीं? इस सवाल पर कहा कि जापानी बौद्ध भिक्षु सुप्रीम कोर्ट में लड़ रहे हैं।

दरअसल, अयोध्या का मसला सियासी लोगों की वजह से नहीं सुलझ रहा। वे कौन से सियासी दल या लोग हैं? इस सवाल पर उन्होंने स्पष्ट जवाब नहीं दिया और कहा कि वह कोई भी हो सकते हैं। धम्म चेतना यात्रा का उद्देश्य स्पष्ट करते हुए कहा कि धम्म को जगाने, चेतना पैदा करने और देश को बचाने के लिए ही यात्रा शुरू की गई है। इसमें कोई राजनीति नहीं है। भाजपा मेरे साथ है। अभी कांग्र्रेस, बसपा व अन्य दल भी आएंगे, क्योंकि मेरे पीछे वोट हैं। पूर्व सांसद ने कहा कि यहां अच्छे बौद्ध भिक्षु न होने के कारण इस धर्म का प्रचार नहीं हुआ है।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस