अलीगढ़ [जेएनएन]। सेवा भवन स्थित इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आइसीसीसी) में सोमवार को आइजी दीपक रत्न ने ट्रैफिक मैनेजमेंट के हाइटेक इंतजामों का जायजा लिया। जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरे व ड्रोन के जरिए स्क्रीन पर शहर की गतिविधियां देखीं। पुलिस की आवश्यक सेवाएं, थानों की सीमाओं का विवरण भी जीआइएस पर दर्ज कराया जाएगा। इससे सीमा विवाद से छुटकारा मिलेगा, पुलिस को भी घटनास्थल तक पहुंचने में आसानी होगी। आइजी ने जिले के सभी थानों को विवरण, नक्शा ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम (जीआइएस) पर फीड करने के निर्देश दिए।

 

जीआइएस मैप सेे होगी मदद

नगर आयुक्त सत्यप्रकाश पटेल व एसपी टै्रफिक सतीश चंद्र के साथ पहुंचे आइजी ने ट्रैफिक मैनेजमेंट के साथ क्राइम कंट्रोल में आइसीसीसी की भूमिका की जानकारी ली। उन्होंने जीआइएस मैप की मदद से बस स्टेंड, थानों की स्थिति, शहरी सीमा, रेलवे लाइन, धार्मिक स्थल, कंटेनमेंट जोन, ग्रीन एरिया, होटल, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल, सर्विलांस सिस्टम आदि की जानकारी लेकर कार्यप्रणाली को सराहा। जिले के सभी थानों को विवरण, नक्शा ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम (जीआइएस) पर फीड करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुलिस की आवश्यक सेवाएं, थानों की सीमाओं का विवरण भी जीआइएस पर दर्ज कराया जाए। इससे सीमा विवाद से तो छुटकारा मिलेगा ही, पुलिस को भी घटनास्थल तक पहुंचने में आसानी होगी। इसमें उन सभी स्थानों को चिह्नित किया जाएगा जो आसानी से सही जगह पहुंचाने में मददगार साबित हों। इसका भी ध्यान रखा जाएगा कि कौन-कौन से स्थान कानून व्यवस्था की दृष्टि से संवेदनशील हैं। निरीक्षण के दौरान पीआरओ संजीव त्यागी, मीडिया सहायक अहसान रब, प्रोजेक्ट मैनेजर रोहित सहगल, जीआइएस एक्सपर्ट अमित राय आदि मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस