जासं, अलीगढ़ : जल निगम की शिकायतें बढ़ती जा रही हैं। गुरुवार को वार्ड 37 का दौरा करने गए नगर आयुक्त गौरांग राठी को स्थानीय लोगों ने पीड़ा सुनाई। नगर आयुक्त ने जल निगम के जेई और एई पर विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

नगर आयुक्त ने वार्ड 37 के भुजपुरा, नगला आशिक अली, तुर्कमानगेट का औचक निरीक्षण किया। पार्षद अनीस मिया, हाफिज अब्बासी, जल निगम की टीम भी साथ थी। यहां विजय सीमेंट वाली गली में सड़क बदहाल मिली। लोगों ने बताया कि जल निगम ने सड़क खोदने के बाद ठीक नहीं कराया। उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा बनाई सड़क जल निगम द्वारा तोड़ी जाती है कि जल निगम ही धनराशी की भरपाई करेगा। मुख्य मार्ग पर जल निगम द्वारा बनाई गई सड़क की जांच करने के आदेश सहायक अभियंता को दिए हैं। नगर आयुक्त ने सभी पेयजल प्रभारियों को हैंडपंपों को चेक कर तत्काल रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। साथ ही लीकेज ठीक कराने, पोखर की जमीन का सत्यापन कराने, कब्रिस्तान में कराए गए कार्यों की जांच व टावर लगाने वाली कंपनी से जुर्माना वसूलने को कहा है।

सड़क, सफाई, जलापूर्ति को लेकर पार्षदों ने जताई नाराजगी:

जवाहर भवन में गुरुवार को आयोजित जनसंवाद बैठक में पार्षदों ने अपने क्षेत्रों की समस्याएं गिनाईं। सहायक नगर आयुक्त ठाकुर प्रसाद ने संबंधित विभागों को समस्याओं के निस्तारण के आदेश दिए हैं।

बैठक में पार्षद मोहम्मद शाकिर, संजय शर्मा, अलका गुप्ता, नरेंद्र वाष्र्णेय, नीलेश उपाध्यक्ष, विजेंद्र बघेल ने मैनहोल के ढक्कन टूटे होने, सफाई व्यवस्था, जल निकासी, पथ प्रकाश, लीकेज, नाला सफाई, जल निगम द्वारा सड़कों को क्षतिग्रस्त करने, पार्कों के रख-रखाव, श्री वाष्र्णेय मंदिर से बंदर पकड़ने, सफाई कर्मियों की तैनाती समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा कर समाधान की मांग की। बैठक में मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय राय, कर निर्धारण अधिकारी आरपी सिंह, सहायक अभियंता अतर सिंह, लक्ष्मण सिंह, मीडिया सहायक अहसान रब, संजय सक्सेना आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran