जासं, अलीगढ़ : छर्रा सीएचसी पर कोरोना कैंप व दवा वितरण कार्यक्रम में तीन गलत एएनएम की ड्यूटी लगाने के मामले में स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई है। इन तीनों एएनएम में से एक की मौत, एक सेवानिवृत व एक का स्थानांतरण हो चुका है। गुरुवार को इंटरनेट मीडिया पर संदेश वायरल हुआ तो अफसर हरकत में आ गए।

कोरोना के चलते इन दिनों सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कैंप लगाए जा रहे हैं। इनमें एएनएम व आशाओं की ड्यूटी लगाई जाती है। इनके माध्यम से दवा वितरण समेत अन्य काम निपटाएं जाते हैं। गुरुवार को इंटरनेट मीडिया पर एक संदेश वायरल हो रहा था। इसमें छर्रा सीएचसी पर तीन एएनएम की गलत ड्यूटी लगाई जाने की बात कही जा रही थी। इसमें एक एएनएम तो ऐसी है, जिसकी मौत हो चुकी है। वहीं, एक एएनएम सेवानिवृत हो चुकी हैं। एक का पहले ही इस ब्लाक से स्थानांतरण हो गया है, लेकिन इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग के स्थानीय कर्मचारियों ने कैंप में इनकी ड्यूटी का आदेश जारी कर दिया। इस संदेश के बाद अफसरों में खलबली मच गई है। जिला स्तरीय अफसरों ने सीएसची प्रभारी से पूरा मामला तलब किया। छर्रा सीएचसी के चिकित्साधीक्षक डा. अवनेंद्र कुमार का कहना है कि कई दिन पुराना मामला है। कर्मचारियों की गलती से पुरानी डयूटी लिस्ट विभागीय साइट पर अपलोड हो गई थी। अब नई लिस्ट के हिसाब से ही ड्यूटी लगाई गई है।

38 नए संक्रमित मिले 124 मरीज हुए स्वस्थ: कोरोना के मामलों में अब तेजी से गिरावट आ रही है। गुरुवार को जिले में 38 नए मरीज मिले। वहीं, 124 लोग स्वस्थ होकर घर गए। निजी चिकित्सालयों में दो लोगों की मौत हो गई। अब जिले में कुल 975 कोरोना के सक्रिय मरीज हैं।

गुरुवार को जिले में 7046 लोगों की जांच हुईं। इनमें कुल 38 लोग संक्रमित मिले। इनमें शहर व देहात दोनों के शामिल थे। इसके अलावा धनीपुर मंडी स्थित एक निजी चिकित्सालय में पीएसी की एक 60 वर्षीय महिला की मौत हो गई है। स्वजनों ने कोरोना प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार किया। वहीं, आगरा रोड स्थित निजी अस्पताल में एक 64 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई। यह व्यक्ति हरिओम नगर का था। सीएमओ भानु प्रताप कल्याणी ने बताया कि कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आ रहा है।

Edited By: Jagran