अलीगढ़, जागरण संवाददाता। क्वार्सी क्षेत्र के जमालपुर स्थित रेलवे ट्रैक के पास गुरुवार रात से लापता एक रिक्शा चालक की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। शव के पास ही एक छुरा भी पड़ा मिला है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। घटना से आसपास के लोगों में खलबली मची हुई है।

शव के पास में मिला छुरा

क्वार्सी क्षेत्र के शहंशाहबाद मौलाना आजाद नगर निवासी 32 वर्षीय अशफाक रिक्शा चालक के साथ ही बेलदारी का काम करते थे। बड़े भाई इकबाल के अनुसार अशफाक गुरुवार शाम चार बजे घर पहुंचे थे। इसके बाद फिर कहीं जाने की कहकर निकल गए। देर रात तक घर वापस मिल जाए तो तलाश शुरू की गई। सुबह तलाशी के दौरान जमालपुर स्थित रेलवे ट्रैक के पास अशफाक का खून से लथपथ शव पड़ा मिला। गर्दन व हाथ पर चाकू के कई वार भी किए गए थे। पास ही एक छुरा भी पड़ा मिला। अशफाक सात भाई- बहनों में तीसरे नंबर के थे। वे एक साल के बेटे अयान के पिता थे। हत्या की खबर के बाद पत्नी शबाना व स्वजन बेहाल हैं। सीओ सिविल लाइन श्वेताभ पांडे ने बताया कि मामले में पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है, जल्द घटना का राजफाश किया जाएगा।

डीएम के आदेशों का नहीं हो रहा अमल

पूर्व डीएम चंद्रभूषण सिंह ने शहर में लगने वाले जाम को देखते हुए प्राइवेट वाहनों व बसों को अंदर न आने देने के अादेश दिए थे । महानगर बस सेवा का जरुर संचालन बंद हो गया, लेकिन रोडवेज बस के रंग में रंगी हुई प्राइवेट बसें गांधीपार्क बस स्टैंड व कंपनी बाग तक बिना किसी रोक-टोक आ -जा रही हैं । बताया जाता है कि पुलिस व आरटीओ के कर्मचारियों की मिलीभगत से इन बसों का संचालन हो रहा है । जिसके चलते शहर में जाम तो लग ही रहा है इन बसों के चलते रोडवेज को भी रोजाना हजारों रुपये के राजस्व का चूना लग रहा है । फिर भी इस ओर विभागीय अधिकारी कतई ध्यान नहीं दे रहे हैं ।

बस स्टैंड के बाहर से प्राइवेट बसों के सवारियां भरकर ले जाने की जानकारी मिली है। डीएम, आरटीओ व पुलिस विभाग को पत्र भेजकर इन बसों की धरपकड़ कराने व बसों का संचालन बंद कराने का अनुरोध किया गया है ।

- मोहम्मद परवेज, आरएम रोडवेज