अलीगढ़, जागरण संवाददाता । इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव कजरौठ के एक युवक ने पेड़ से लटक कर खुदकुशी कर ली। स्वजन ने हत्या का आरोप लगाया है।

गमछा का फंदा लगाकर की खुदकुशी

गांव कजरौठ निवासी दीपचंद (40) पुत्र शंकरलाल शुक्रवार की रात्रि से घर से गायब था। शनिवार की सुबह उसका शव घर से दो किमी. दूर गांव बेलोठ को जाने वाले लिंक मार्ग के समीप हाथरस रोड के सहारे शीशम के पेड़ पर लटका दिखा। युवक द्वारा गमछा का फंदा बनाकर खुदकुशी की गई थी। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस व स्वजन मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। स्वजन द्वारा हत्या की आशंका व्यक्त की गई है। वहीं चर्चा है कि युवक ने घरेलू कलह में खुदकुशी की है। मृतक मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करता था, उसने अपने पीछे पत्नी रेखा देवी, तीन बेटी व एक बेटे को रोते बिलखते छोड़ा है।

सांड ने वृद्ध को पटका, मौत

इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव पढ़ील निवासी एक वृद्ध को रात में सांड ने उठाकर पटक दिया। वृद्ध की मौके पर ही मौत हो गई। वह रात को खेत पर बाजरा की फसल की रखवाली करने के लिए गए थे। गांव पढ़ील निवासी राजवीर शर्मा (70) शुक्रवार की रात्रि करीब 10 बजे खेत पर बाजरा की फसल को निराश्रित पशुओं से रखवाली करने के लिए गए थे। इस दौरान सांड ने उनके ऊपर हमला बोल दिया। सांड ने वृद्ध को उठा कर पटक दिया। मौके पर ही उनकी मौत हो गई। हालांकि स्वजन उन्हें निजी चिकित्सक के पास भी दिखाने लगे गए। वृद्ध का स्वजन द्वारा अंतिम संस्कार कर दिया गया है। वह राजस्थान सिंचाई विभाग से सेवानिवृत थे और उनकी शादी नहीं हुई थी।  विदित रहे कि इगलास ब्लाक क्षेत्र में 14 गोशाला हैं। इसके बाद भी तमाम निराश्रित गोवंश सड़कों पर घूमते रहते हैं। ये निराश्रित पशु फसलों में भी नुकसान करते हैं। खेत पर फसलों की रखवाली करने गए किसानों पर भी हमला बोल देते हैं। कई किसानों की जान भी जा चुकी है।

Edited By: Anil Kushwaha