अलीगढ़, जागरण संवाददाता। रविवार को बलदेव छठ पर्व पर खैर कस्बा के सोमना रोड स्थित प्राचीन दाऊजी के मंदिर पर दाऊ जन्मोत्सव बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाया गया। सर्वप्रथम भक्तों ने दाऊ प्रतिमा का विधि विधान से दुग्ध अभिषेक किया। तदुपरांत दोपहर में श्रद्धालुओं द्वारा सामाजिक दूरी का पालन करते हुए भगवान दाऊ का कीर्तन कर गुणगान किया। दाऊ प्रतिमा का अलौकिक श्रृंगार किया गया।

लोगों ने शारीरिक दूरी का पालन किया

पूरे मंदिर को बिजली चलित झालरी व सुगंधित फूलों से भव्य रूप से सजाया गया। देर शाम श्रद्धालुओं ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए दाऊजी महाराज के दर्शन कर मावा मिश्री आदि का भोग लगाकर मनौती मांगी। मंदिर के पास दुकानों पर खासी भीड़ रही। वहीं दाऊजी के जन्मोत्सव पर सोमना रोड स्थित मंदिर पर भंडारा हुआ सैकड़ो लोगो ने प्रसाद ग्रहण किया । इस उत्सव पर गोपाल शर्मा, गौरव, अरविंद, लेखराज, मुनेंद्र, राजकुमार, किशनलाल, सुधीर आदि लोगो ने सहयोग किया। वही गौमत गांव में इस वर्ष भी नही लगा बलदेव छट का मेला दाऊजी महाराज का फूलों का बंगला सजाया गया। श्रीदाऊ जी के मंदिर में दाऊ जी जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया। दाऊजी एवं रेवती जी की प्रतिमा का भव्य शृंगार किया गया।दाऊ जी के दर्शन करने के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। दोपहर एक बजे भगवान दाऊ की महा आरती कर दाऊजी महाराज के जयकारे से प्रांगण गुंजा। इस अवसर पर मंदिर के पूजारी नरेश शर्मा,प्रबंधक ओपी मित्तल,रवेन्द्र स्वरूप मित्तल, सौरभ मित्तल, संजीव मित्तल, अनूप मित्तल, अंकित मित्तल, सोनू गोविल, राजकुमार गोविल, रामकुमार गोविल, अरूण मित्तल आदि मौजूद रहे।

धूमधाम से मनाया गया बलदाऊ महाराज का जन्‍मोत्‍सव

हरदुआगंज । कस्बा के महाराज मंदिर पर देवछठ पर्व पर बलदाऊ महाराज का जन्मोत्सव मनाया गया, जहांभक्तों से बलदाऊ महाराज के मनोहारी दर्शन किए।मंदिर में बलदाऊ महाराज की छठी पूजन का आयोजन हुआ, जिसमें नगर की महिलाओं ने मधुर गीत संगीत से साथ विधि विधान से पूजा अर्चना की। पुजारी मुख्य पुजारी जगदीश प्रसाद शर्मा ने मंगल आरती कराई, बड़ी संख्या में मौजूद भक्तों ने दर्शन कर प्रसाद पाया। आयोजन समिति पदाधिकारी नीटू वर्मा ने बताया कि सोमवार को सुबह फूल बंगला व छप्पन भोग दर्शन का आयोजन होगा। इस मौके पर राजेश यादव, राजेश मित्तल, सुशील जैन,रोदाश चौहान, अतुल अग्रवाल, संजीव शर्मा, देवश सक्सेना, शैलेश बंसल, नवीन वर्मा, अन्नी शर्मा आदि लोग मौजूद रहे।

Edited By: Anil Kushwaha