अलीगढ़, जेएनएन। गर्मी व बरसात के मौसम में उल्टी-दस्त का खतरा सबसे ज्यादा रहता है। बच्चों के लिए यह बीमारी जानलेवा है। जबकि, लोगों को जागरूक करके काफी हद तक इस बीमारी की रोकथाम की जा सकती है। इसके लिए शासन की ओर से दो से 14 अगस्त तक जनपद में सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा मनाया जाएगा। ब्लाक स्तर पर विभिन्न गतिविधियां आयोजित होंगी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आनंद उपाध्याय ने बताया कि ब्लाक स्तर पर सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा विषय पर तकनीकी कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा, जिसमें समस्त ब्लाक स्तर के चिकित्साअधिकारी, ब्लाक कार्यक्रम प्रबंधक, सीडीपीओ, बीसीपीएम, समस्त आयुष चिकित्सक, समस्त स्टाफ नर्स, एएनएम, आशा, आंगनवाड़ी को आइसीसीएफ कार्यक्रम की तकनीकी विषय गतिविधियों तथा उनकी भूमिका के संबंध में प्रस्तुतीकरण किया जाएगा। टूलकिट के माध्यम से उन्मुखीकरण किया जाएगा ।

घर-घर जाएंगी आशा कर्मी

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के नोडल अधिकारी डा. एसपी सिंह ने कहा कि जिला महिला चिकित्सालय, सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, के ओपीडी एवं वार्ड एवं ओआरएस. जिंक कार्नर स्थापित किया जाएगा। दूरस्थ क्षेत्रों में मोबाइल टीम के माध्यम से ओआरएस जिंक टेबलेट का वितरण किया जाएगा। एएनएम उक्त पखवाड़े के दौरान भी वीएचएसएनडी बैठक कर ग्राम प्रधान व सदस्यों को कार्यक्रम में सहयोग लिया जाएगा। आशा कर्मी घर-घर जाकर पांच साल तक के बच्चों को दस्त में ओआरएस के दो पैकेट वितरित करेंगे। 14 दिन तक खिलाने के लिए सलाह दी जाएगी। गंभीर पानी की कमी वाले बच्चों को आशा सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और जिला महिला चिकित्सालय को रेफर करेंगी। इसमें ज्यादा से ज्यादा आशा परिवार में महत्ता बताई जाएगी। ओआरएस घोल बनाने का तरीका बताया जाएगा ।