जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : एटा-क्वार्सी बाईपास पर हादसों को रोकने के लिए क्रैश बैरियर लगने शुरू हो गए हैं। इस बार इन्हें कुलदीप विहार के सामने लगाया जा रहा है। इससे पहले कयामपुर मोड़ से क्वार्सी चौराहे तक क्रैश बैरियर लगाए गए थे। क्रैश बैरियर के लगने से अब वाहन सुरक्षित निकल सकेंगे। इस बाईपास पर आए दिन हादसे होते रहते हैं, जिनकी वजह से कई बार जान तक चली जाती है।

एटा-क्वार्सी बाईपास के सहारे से नाला निकल रहा है। करीब चार किमी लंबा यह नाला पूरी तरह से खुला हुआ है। अभी दो साल पहले क्वार्सी चौराहे के पास नाले में कार गिर गई थी, जिसमें दो दोस्तों की मौत हो गई थी। ठंड के समय तो नाला एकदम दिखाई नहीं देता है, जिससे वाहन इसमें गिरते रहते हैं। इस पर कोल विधायक अनिल पाराशर ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को रोड सेफ्टी के इंतजाम करने के लिए कहा था। कयामपुर मोड़ से लेकर क्वार्सी चौराहे तक बैरियर लगा दिए गए थे, मगर कयामपुर मोड़ से एटा चुंगी तक अभी तक बैरियर नहीं लगाया गया था। इससे कुलदीप विहार, महाराणा प्रताप गेट, देवी का नगला आदि स्थानों पर नाले में वाहन पलट जाया करते थे। शुक्रवार को कुलदीप विहार से लेकर कयामपुर मोड़ तक बैरियर लगा दिए गए हैं। बाकी हिस्से में भी जल्द क्रैश बैरियर लगाए जाएंगे। कोल विधायक अनिल पाराशर ने कहा कि एटा चुंगी से लेकर कयामपुर मोड़ तक क्रैश बैरियर लगवाया जाएगा, जिससे बाईपास पूरी तरह से सुरक्षित रहे।

नादा पुल से मथुरा रोड तक नाले पर बने बाईपास पर भी आए दिन हादसे होते रहते हैं। इस बाईपास पर भी क्रैश बैरियर लगा दिए जाएं तो यहां भी होने वाले हादसों पर रोक लग सकेगी। इसके लिए भी प्रशासन को पहल करनी चाहिए। इसके लिए जनप्रतिनिधियों को भी आगे आना चाहिए। जनप्रतिनिधियों की पहल पर ही यह काम आसानी से हो सकता है।

Edited By: Jagran