अलीगढ़, जेएनएन। वीकेंड कर्फ्यू के दौरान बुधवार को भी बाजारो में दिनभर सन्नाटा रहा। वहीं महानगर के प्रमुख मार्ग गुलजार रहे।  सुबह से आवश्यक वस्तु दूध, किराना सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की दुकानों पर भीड़ थी। सुबह फल व सब्जी वालों पर ग्राहक कम थे, यह शाम को बढ़ गए। प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए लगातार सख्ती बढ़ा रही है। पहले साप्ताहिक बंदी मंगलवार, फिर गुरुवार तक था। अब इसे बढ़ाकर सोमवार सुबह सात बजे तक के लिए कर दिया है इस वीकेंड कर्फ्यू के पालन के लिए सामान्य व्यापारी व उद्यमियों ने अपना पूरा सहयोग दिया। इन्होंने अपने अपने घरों में रहकर कोरोना की गाइड लाइन का पालन किया। सुबह दूध, फल, सब्जी व किराना की खुलने वाली दुकानों पर भीड़ कम थी। 

निरंतर बढ़ रहे मौत के आंकड़े 

शहर के प्रमुख मार्ग आगरा रोड, रामघाट रोड, जीटी रोड सारसौल, जीटी रोड नौरंगाबाद, छाबनी, रामघाट रोड पर राहगीरों बे रोक टोक चल रहे थे। रोडवेज बसों में भी खचाखच भीड़ थी। सामाजिक कार्यकर्ता कौशल किशोर गौड का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित मरीजों की संख्या कम होने का नाम नहीं ले रही। मौत के आंकड़े दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं। लोग हैं, कि वह न तो सतर्ककता बरत रहे हैं, ना ही अन्य सावधानियों पर जोर दे रहे हैं। विकेंड कर्फ्यू में सुबह लोग आवश्यक खाद्य वस्तुओं की दुकानों पर ऐसे निकलते हैं, जैसे सामान्य दिन हों। छोटी छोटी जरुरत के सामान के वहाने सैर सपाटे करते हुए देखे जा सकते हैं। महावीरगंज खाद्यान व्यापार मंडल के अध्यक्ष राजकुमार गुप्ता ने दो दिन लाकडाउन बढ़ाने का स्वागत किया है, साथ ही राहगीरों से उन्होंने अपील की है कि बहुत ही जरुरी हो, तभी नागरिक अपने अपने घरों से निकले। अन्यथा कोरोना संक्रमण के मरीजों पर शिकंजा कसना मुश्किल होगा। पुलिस भ सख्ती बरते। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021