अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  हरदुआगंज के नरौरा गंगाघाट से रविवार शाम को गणेश प्रतिमा विसर्जित कर लौट रहे ट्रैक्टर व टेंपो सवार दो गुटों में जमकर लाठी डंडे चले, जिसमें आधा दर्जन लोग घायल हो गए। मारपीट की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी और टेंपाे को पकड़ लिया। 

गुटखा की पीक मारने पर हुआ था विवाद

हरदुआगंज के गांव इब्राहिमाबाद निवासी भीष्मसिंह परिवार की महिलाओं के साथ गणेश प्रतिमा विसर्जन करने गंगाघाट गए थे, जहां से आठ बजे के करीब वापस लौट रहे थे, भीष्मसिंह के मुताबिक एक अज्ञात युवकों से भरा टेंपो ट्रैक्टर के पीछे व कार आगे चल रही थी, जिरौली धूमसिंह पर आते ही युवकों ने हुड़दंग मचाते हुए ट्रैक्टर सवारों के ऊपर गुटखा की पीक मार दी, जहां कहासुनी के बीच टेपों व कार सवार दर्जनों युवक हमलावर हो गए और डंडे निकालकर महिला-बच्चों को पीटना शुरू कर दिया, मारपीट में सरला देवी 65 वर्ष, भीष्मसिंह, प्रियांसु कुनाल, ममता, नीलम, अजय कुमार घायल हो गए, वहीं मारपीट कर टेंपों व कार सवार अलीगढ़ की ओर भाग लिए, खबर पाकर सक्रिय पुलिस हरदुआगंज पुलिस ने टेंपो को पकड़ लिया, वहीं पीछे से पहुंचे ट्रैक्टर सवारों ने थाने पर जमकर हंगामा किया। प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि घटना स्थल अतरौली होने से कार्रवाई हेतु वहां भेज दिया गया है।

दो पक्षों में चले लाठी डंडे, चार युवक घायल

हरदुआगंज । कस्बा जलाली में रविवार को दो पक्षों में जमकर लाठी डंडे चले जिसमें चार युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। जलाली के मोहल्ला जाना निवासी कुंवरपाल सिंह ने बताया कि शनिवार को वह जलाली में लगे मेले में गया था, जहां मोहल्ले के ही युवकों ने उससे बेवजह मारपीट कर की, रविवार की शाम को वह गली से निकलकर जा रहा था, वही युवक फिर से गाली देने लगे और विरोध करने पर हमलावर उसे बचाने आए धमेंद्र, राजू व भवानीशंकर को जमकर पीटा, चारों युवक गंभीररूप से घायल हो गए, प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि घायलों को डॉक्टरी परिक्षण को भेजा गया है, सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Anil Kushwaha