अलीगढ़ [जेएनएन]: बिगड़े बोल को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका डालने वाले कांग्र्रेस नेता विनोद पांडेय ने उत्तर प्रदेश श्रम, कर्मकार सन्निर्माण परामर्शदात्री समिति के अध्यक्ष व भाजपा नेता रघुराज सिंह और मुख्यमंत्री को धमकी देने वाले राजमणि तिवारी से जान का खतरा बताया है। उन्होंने एसएसपी को पत्र लिखकर सुरक्षा मांगी है। कहा है कि जब मामूली विवाद में रघुराज के बेटे विधायक के रिश्तेदार पर हमला कर सकते हैं तो उन पर भी हमला करवाया जा सकता है।

यह है मामला

देहलीगेट क्षेत्र के न्यू अशोक नगर निवासी विनोद पांडेय ने कहा है कि दो नवंबर 2019 को फेसबुक पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर राजमणि तिवारी निवासी बहेरा (इटावा) ने अभद्र टिप्पणी करते हुए जान से मारने की धमकी दी थी। उन्होंने बन्नादेवी थाने में मुकदमा दर्ज कराया, जिसके बाद राजमणि को इटावा से गिरफ्तार कर लिया गया। राजमणि के फौजी पिता ने फोन पर उन्हें (विनोद पांडेय) धमकी दी और कहा कि यह तुमने अच्छा नहीं किया।

 ई-मेल से की शिकायत

 10 जनवरी को भाजपा नेता रघुराज सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, अभिनेत्री दीपिका पादुकोण व एएमयू के छात्रों के खिलाफ असंवैधानिक वक्तव्य दिया था। कांग्र्रेस नेता ने 12 जनवरी को इसकी शिकायत एसएसपी व अन्य अफसरों से ई-मेल से की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद विनोद पांडेय ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका डाल दी, जिसकी सुनवाई 14 फरवरी को होनी है। विनोद ने कहा है कि जिस तरह भाजपा नेता के बेटे नीशू ने भाजपा के बरौली विधायक के रिश्तेदार को बुरी तरह पीटा, उससे उन्हें भी जान का खतरा है।राजमणि तिवारी के साथ रघुराज सिंह, उनके पुत्र व समर्थक उनकी हत्या कर सकते हैं।

 हाईकोर्ट में सुनवाई आज

बिगड़े बोल को लेकर विनोद पांडेय ने रघुराज सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने, उत्तर प्रदेश श्रम व कर्मकार सन्निर्माण परामर्शदात्री समिति के अध्यक्ष के पद से बर्खास्त कराने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की थी। मुख्य न्यायाधीश की कोर्ट में इस पर 14 फरवरी को सुनवाई होगी। ऐसे में शुक्रवार को कोर्ट बड़ा निर्णय भी ले सकती है।

नोटिस के बाद हटी सुरक्षा

विनोद पांडेय के मुताबिक, उन्हीं की शिकायत के बाद हाईकोर्ट ने डीजीपी व मुख्य सचिव को नोटिस भेजा। इसके बाद रघुराज सिंह की सुरक्षा हटाई गई।

रघुराज की दिक्कतें और बढ़ीं

रघुराज सिंह की दिक्कतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बुर्के पर प्रतिबंध के बयान के बाद प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने उन्हें लखनऊ तलब कर लिया था। कारण बताओ नोटिस देकर कार्रवाई की हिदायत तक दे दी। इसके बाद सुरक्षा गार्ड वापस ले लिए गए। अब बेटे के खिलाफ मामला दर्ज होने और कांग्र्रेस नेता द्वारा आरोप लगाने से दिक्कतें और अधिक बढ़ गई हैं। 

अगर दोषी है तो मेरे बेटे को गोली मरवा दें : रघुराज

रघुराज सिंह ने कहा है कि उनका बेटा दोषी हो तो उसे गोली मार दी जाए, मुझे तकलीफ नहीं होगी। उसे गलत फंसाया गया है। बरौली विधायक पहले छर्रा विधायक रवेंद्र पाल सिंह के बेटे के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज करा चुके हैं, अब उनके बेटे के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। मैं हर मौके पर उनके साथ खड़ा रहा हूं, मगर उन्होंने हमेशा दूरियां बनाई हैैं। बेटे के साथ गनर की बात कह रहे हैं। मुझे और मेरे परिवार को बार-बार धमकियां मिल रही हैं, इसलिए बेटे के साथ गनर हो सकता है। इस मामले में अनावश्यक बरौली विधायक पीछे न पड़ें। उन्होंने कहा कि विनोद पांडेय के बारे में पहली बार सुन रहा हूं। ये कहां रहते हैं क्या करते हैं, मैं नहीं जानता। फिर मुझसे उन्हें कैसे खतरा हो सकता है।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस