जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत पांच दिसंबर को अलीगढ़ समेत सूबे के सभी जिलों में समारोह आयोजित किए जाएंगे। शासन स्तर से इसके लिए जिले में कुल 250 जोड़ों की शादी कराने का लक्ष्य तय हुआ है। समाज कल्याण विभाग के अफसर इसकी तैयारियों में जुट गए हैं। सोमवार को जिला समाज कल्याण अधिकारी मनीष कुमार ने जिले के सभी बीडीओ व अन्य अफसरों से साथ बैठक कर इस समारोह को सफल बनाने के लिए तैयारियों पर विचार विमर्श किया।

जिला समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि प्रदेश सरकार ने जरूरतमंदों के लिए मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना संचालित कर रखी है। अब प्रदेश सरकार ने एक ही दिन में सूबे के सभी जिलों में इसके तहत आयोजन कराने का फैसला लिया है। इसके लिए शहरी क्षेत्र के निवासी नगर पंचायत, नगर पालिका व नगर निगम में आवेदन कर सकते हैं। ग्रामीण क्षेत्र के लोग ब्लाक में पंजीकरण करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस योजना में प्रति जोड़े 51 हजार रुपये खर्च होते हैं। इसमें 35 हजार रुपये कन्या के बैंक बचत खाते में जाते हैं। 10 हजार रुपये का सामान दिया जाता है। छह हजार रुपये भोजन व अन्य व्यवस्थाओं पर खर्च होते हैं। उन्होंने बताया कि योजना का लाभ लेने के लिए कन्या के अभिभावक उत्तर प्रदेश के मूल निवासी हों। विवाह के लिए कन्या की आयु 18 वर्ष एवं वर की आयु 21 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। आवेदन के साथ वर एवं कन्या के आधार कार्ड, आयु प्रमाण के लिए शैक्षिक प्रमाण पत्र, एससी व ओबीसी वर्ग के लाभार्थियों के लिए जाति प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।

मुख्य बिंदु

-जिले में कुल 250 जोड़ों की शादी कराने का तय हुआ है लक्ष्य

-अलीगढ़ समेत सूबे के सभी जिलों में एक ही दिन होना है आयोजन

-प्रति जोड़े 51 हजार रुपये आयोजन में खर्च होते हैं।

Edited By: Jagran