अलीगढ़ [जेएनएन]: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप व लॉकडाउन काल में सबसे बड़ी टेंशन एनईईटी यानी नीट अभ्यर्थियों के सामने है कि दूसरे जिलों में परीक्षा देने जाना है। जिले के तमाम अभ्यर्थी मांग कर रहे हैं कि अलीगढ़ में भी नीट का सेंटर दिया जाए। जब आगरा में सेंटर दे सकते हैं तो अलीगढ़ में क्यों नहीं? एएमयू के शिक्षकों ने भी कुलपति को छात्र हित में नीट का सेंटर एएमयू में बनवाने संबंधी पत्र लिखा है। कोविड-19 संक्रमण के चलते ही नीट का आयोजन कराने वाली नेशनल टेङ्क्षस्टग एजेंसी (एनटीए) ने 14 अप्रैल तक अपने सेंटर को चेंज करने की सुविधा भी अभ्यर्थियों को दी थी। फिर भी दूसरे जिलों में जाना ही पड़ेगा। ट्रेन, बस या निजी वाहनों के सुगम संचालन न होने से परेशानी हो सकती है।

एएमयू प्रोफेसर्स ने लिखा पत्र

एएमयू के राजनीतिक विज्ञान विभाग के प्रो. आफताब आलम व मेडिकल कॉलेज के प्रो. नजम खलील ने कुलपति को इस संबंध में पत्र लिखा है। इसमें मांग की गई है कि छात्र हित में एएमयू में नीट का केंद्र बनवाने का प्रयास एनटीए के जरिए किया जाए।

26 जुलाई तक का समय

पहले नीट पांच मई को कराई जानी थी। कोरोना के चलते इसको स्थगित किया गया। अब 26 जुलाई को कराया जाएगा। इसलिए एनटीए के पास भी काफी समय है। इस बीच में सेंटर बदलने का निर्णय भी किया जा सकता है।

अभ्यर्थियों के बोल

बाहर जाने व समय खराब होने का डर है। अलीगढ़ मेें सेंटर बन जाए तो फ्री होकर बेहतर तैयारी होगी।

अर्जुन आहुजा, मैरिस रोड

कई बड़ी परीक्षाएं अलीगढ़ में होती हैं तो नीट क्यों नहीं? बाहर जाना फिलवक्त खतरे से खाली नहीं।

अलवीरा आलम, ग्रीनपार्क कॉलोनी

संचालकों के बोल

पहले प्रयास भी किया कि अलीगढ़ में नीट का सेंटर आए, मगर बात बन नहीं पाई। विद्यार्थी व अभिभावकों को भी जिले से बाहर जाने में खतरा है। एनटीए अलीगढ़ में नीट का सेंटर देती है तो इससे अलीगढ़ ही नहीं आस-पास के तमाम इलाकों के छात्र लाभांवित होंगे।

जावेद सिद्दीकी, निदेशक, ऑर्गनन क्लासेज

कुछ दिन पहले ही नीट के अभ्यर्थियों से इसी विषय पर चर्चा हो रही थी कि बाहर आना-जाना कैसे होगा? कोरोना काल में अलीगढ़ में सेंटर की सुविधा देनी चाहिए। हम भी प्रयास कर रहे हैं कि अलीगढ़ में सेंटर बन जाए।

योगेश, निदेशक, शिक्षा क्लासेज

हम भी प्रयास कर रहे हैं कि अलीगढ़ में नीट का सेंटर आए। एएमयू के विद्यार्थी तो इसमें भाग लेते ही हैं, अलीगढ़ के तमाम विद्यार्थी शामिल होते हैं। यहां सेंटर बनने से लॉकडाउन में छात्र-छात्राओं को काफी राहत होगी।

अब्दुल हमीद, रजिस्ट्रार, एएमयू

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस