अलीगढ़, जागरण संवाददाता । एएमयू में रविवार को कक्षा 11वीं व डिप्लोमा इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षाएं कराई गईं। सुबह 10 से दोपहर 12 बजे की पाली में सैयद हामिद सीनियर सेकेंडरी स्कूल (ब्वायज) में परीक्षार्थी मोबाइल के साथ पकड़ा गया। पकड़ा गया? परीक्षार्थी एएमयू का इंटरनल छात्र है। यूनिवर्सिटी का दावा है कि छात्र नकल करते नहीं मिला। फिर भी सवाल उठ रहे हैं कि इतनी सुरक्षा के बीच छात्र मोबाइल लेकर कैसे घुस गया?

प्रवेश परीक्षा के लिए 18778 परीक्षार्थियों ने आवेदन किए थे

एएमयू में सुबह की पाली में कक्षा 11वीं (विज्ञान, डिप्लोमा इंजीनियरिंग) की प्रवेश परीक्षा के लिए 18778 परीक्षार्थियों ने आवेदन किए थे। इनमें से 15415 परीक्षार्थी हाजिर रहे। वहीं दोपहर तीन से शाम पांच बजे की पाली में कक्षा 11वीं (वाणिज्य एवं ह्यूमिनिटीज) की प्रवेश परीक्ष के लिए 5507 परीक्षार्थियों ने पंजीकरण कराया था। परीक्षा के दौरान ही सैयद हामिद सीनियर सेकेंडरी स्कूल (ब्वायज) में छात्र मोबाइल के साथ पकड़ा गया। परीक्षा नियंत्रक प्रो. मुजीब उल्लाह जुबैरी ने बताया कि मोबाइल लेकर परीक्षा देते पकड़े गए परीक्षार्थी का प्रकरण डिसिप्लिनरी कमेटी के समक्ष रखा जा रहा है। संभावना जताई कि परीक्षार्थी को दो से तीन साल के लिए एएमयू से डिबार भी किया जा सकता है। कंट्रोलर ने बताया कि देशभर लखनऊ, पटना, श्रीनगर, कोलाकाता, मेरठ, किशनगंज व अलीगढ़ के 53 केंद्रों पर परीक्षा का आयोजन किया गया।

कुलपति प्रो. मंसूर ने देखीं व्यवस्था

एएमयू कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने एएमयू प्राक्टर प्रो. वसीम अली के साथ एएमयू के विभिन्न स्कूलों में परीक्षा का निरीक्षण किया। वरिष्ठ शिक्षकों को अलीगढ़ व बाहर के केंद्रों पर पर्यवेक्षक के रूप में आब्जर्बर के तौर पर नियुक्त किया गया था। कोविड-19 गाइडलाइंस के पालन के साथ परीक्षा कराई गई। परीक्षा खत्म होने के बाद केंद्रों के बाहर विद्यार्थियों की भीड़ होने से जाम की स्थिति भी बनी। किसी केंद्र पर नकल की कोई गतिविधि नहीं पकड़ी गई। 

गणित के कठिन सवालों ने दे दी टेंशन 

एएमयू 11वीं की प्रवेश परीक्षा में विज्ञान व डिप्लोमा इंजीनियरिंग वर्ग के विद्यार्थियों की बेहतर तैयारी के बीच गणित के कठिन प्रश्नों ने टेंशन दे दी। परीक्षा देकर केंद्रों से बाहर आए विद्यार्थियों ने बताया कि बायोलाजी के प्रश्न आसान थे लेकिन गणित का पार्ट काफी कठिन था। कुछ विद्यार्थियों ने बताया कि पिछले साल की तुलना में पेपर काफी कठिन आया था। 

अभ्यर्थियों के बोल

बायोलाजी के प्रश्न काफी आसान थे। गणित के सवाल काफी कठिन थे। मगर तैयारी मजबूत की थी, सभी प्रश्न हल किए। परीक्षा बढ़िया हुई है। 

अनुश्री गुप्ता, साईं वाटिका रमेश विहार 

गणित के सवाल काफी कठिन थे। इनको हल करने में समय भी लगा। पिछले साल की तुलना में पेपर काफी कठिन था। ओवरआल परीक्षा शानदार हुई। 

अंजुल सिंह, पुष्पांजलि कालोनी 

घर पर ही तैयारी की थी। गणित के सवालों ने काफी परेशान किया। बाकी पेपर बैलेंस था। सभी प्रश्न हल किए, परीक्षा भी अच्छी हुई है। बेहतर स्कोर होगा। 

उत्कर्ष गुप्ता, मानसरोवर कालोनी 

परीक्षा अच्छी हुई है, पेपर काफी कठिन आया था। गणित के प्रश्न भी कठिन थे, साथ ही इस्लामिक स्टडीज व जीके का पार्ट भी कठिन था। ओवरआल पेपर बढ़िया हुआ। 

अरीबा खुर्शीद, आलमबाग, शमशाद मार्केट 

हमसफर सोसायटी ने लगाई हेल्प डेस्क 

26 सितंबर को सुबह आठ बजे एएमयू के बाब-ए-सैयद पर एसबीआइ एटीम के सामने हमसफर सोसायटी ने सुबह आठ बजे हेल्प डेस्क लगाई। एएमयू 11वीं की प्रवेश परीक्षा के दौरान बाहरी जिलों से आए परीक्षार्थियों की मदद के लिए हेल्प डेस्क लगाई गई। मुफ्त में मास्क व पानी का वितरण भी किया गया। यह जानकारी सोसायटी सचिव की ओर से दी गई।

Edited By: Anil Kushwaha