अलीगढ़ [ जेएनएन ]  अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में सीएए के विरोध में चल रहा धरना अब इंतजामिया के लिए मुसीबत बनता जा रहा है। धरने पर बैठे छात्रों ने अब इंतजामिया के सामने कुलपति, रजिस्ट्रार व डीएसडब्ल्यू के इस्तीफे के अलावा पांच  मांगें और रखी हैं। जिन्हें पूरी कराने में इंतजामिया की सांसें फूल रही हैं। परेशानी ये है कि छात्रों ने इन मांगों को लेकर यूनिवर्सिटी के बाबे सैयद को तीन दिन से बंद कर रखा है। इससे आने जाने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

कैंपस में पुलिस बुलाने के विरोध में कुलपति, रजिस्ट्रार व प्रॉक्टर के इस्तीफे की मांग

एएमयू में 15 दिसंबर को हुए बवाल के बाद से धरना जारी है। कैंपस में पुलिस बुलाने के विरोध में छात्र कुलपति, रजिस्ट्रार व प्रॉक्टर के इस्तीफे पर अड़े हुए थे। परीक्षाओं का बहिष्कार भी किया। कैंपस का माहौल शांत करने के उद्देश्य से प्रॉक्टर प्रो. अफीफुल्लाह खान ने चार फरवरी को इस्तीफा भी दे दिया। इसके बाद छात्र कक्षाओं में लौटे और परीक्षाएं भी दीं। अब तीन दिन से पांच नई मांग और इंतजामिया के सामने रख दी हैं। जिनका समाधान अभी खोजा नहीं जा सका है। वहीं छात्रों ने बाबे सैयद बंद कर धरना वहीं जमा लिया है। रात को सोते भी वहीं हैं। 

ये हैं छह मांग 

- 15 दिसंबर को हुए बवाल के दौरान मॉरिसन कोर्ट में टीयर गैस फेंकने पर प्रोवोस्ट पुलिस पर मुकदमा दर्ज कराएं। 

- मॉरिसन कोर्ट के गेट कीपर से भी रिपोर्ट दर्ज कराई जाए। 

- घटना वाली रात के सीसीटीवी फुटेज छात्रों को उपलब्ध कराए जाएं।

- बवाल वाली रात एंबुलेंस ड्राइवर की हुई पिटाई के मामले में पुलिस पर मुकदमा दर्ज कराया जाए।

- एंबुलेंस में हुई टूट-फूट के मामले में मेडिकल कॉलेज के सीएमओ रिपोर्ट दर्ज कराएं 

- कुलपति, रजिस्ट्रार व डीएसडब्ल्यू इस्तीफा दें। 

 कुलपति को ही धरना स्थल पर आकर बात करनी होगी

धरने का संचालन कर रही कोर्डिनेशन कमेटी की ओर से सीईसी लॉन में सोमवार शाम बैठक बुलाई गई। इसमें कई बिंदुओं पर मंथन हुआ। अहम चर्चा ये रही कि कुलपति अब बात की जाए या नहीं। इस पर कमेटी के कुल लोग वार्ता करने के पक्ष में थे कुछ नहीं। बहस भी हुई। कमेटी के इमरान खान ने बताया कि तय ये हुआ है कि अब कुलपति से वार्ता करने छात्र नहीं जाएंगे। कुलपति को ही धरना स्थल पर आकर बात करनी होगी। कुछ छात्र इससे सहमत नहीं थे, लेकिन बाद में यही तय हुआ। कमेटी में किसी तरह का विवाद नहीं है।

कुलपति, रजिस्ट्रार व डीएसडब्ल्यू के इस्तीफे समेत छात्रों की छह मांगे हैं

प्रॉक्टर एएमयू के - प्रो. एम वसीम अली, ने बोला कि छात्रों को समझाया जा रहा है। उन्हें बता दिया है कि सीसीटीवी फुटेज हाईकोर्ट में पेश कर दिए हैं। हम उपलब्ध नहीं करा सकते, जिसके साथ मारपीट हुई है वो मुकदमा दर्ज करा सकते हैं। छात्र नेता इमरान खान, का कहना है कि कुलपति, रजिस्ट्रार व डीएसडब्ल्यू के इस्तीफे समेत छात्रों की छह मांगे हैं। उनके चलते ही गेट बंद कर दिया है। इंतजामिया से बातचीत चल रही है। मांगें नहीं मानने तक धरना जारी रहेगा। और साथ ही सीएए के विरोध में भी धरना यथावत रहेगा। 

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस