अलीगढ़, जेएनएन। CAA व NRC को लेकर देशभर में चल रहा गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। संसद से पास कानून का विरोध करने वाले पहले ही तमाम मर्यादाओं को लांघ चुके हैं। विरोध के ये स्वर जिन्ना वाली आजादी से आगे बढ़कर अब कौम के नाम पर किसी भी देश को बर्बाद करने की धमकी तक पहुंच चुके हैं। ताजा मामला अलीगढ़ मुस्लिम विवि के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष का विवादित बयान है। इसके बाद छात्रनेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

उत्तर प्रदेश की नामी अलीगढ़ मुस्लिम विवि (AMU) में CAA के खिलाफ चल रहे छात्र आंदोलन के दौरान पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष फैजुल हसन का देश विरोधी बयान सामने आया है। छात्र नेता ने कहा है कि दुनिया में कहीं सब्र देखना है, तो  हिंदुस्तान के मुसलमानों का देखिए। 1947 से 2020 तक मुसलमान सब्र कर रहा है कि हिंदुस्तान टूट ना पाए। हम उस कौम से हैं, अगर बर्बाद करने पर आ गए तो छोड़ेंगे नहीं, किसी भी देश को खत्म कर देंगे। इस बयान को उत्तर प्रदेश पुलिस को ट्वीट किया गया है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई शुरू नहीं हुई है। उधर दैनिक जागरण से बातचीत में फैजुल हसन ने इस बयान पर सफाई भी दी है।

छह दिन नहीं छह साल तक चलता रहेगा धरना

छात्र नेता ने यह बयान एएमयू में 22 जनवरी की देर शाम धरने पर दिया, जो गुरुवार को वायरल हो गया। उन्होंने  कहा कि हमने तय कर लिया है।  धरना चल रहा है। यदि सीएए, एनआरसी वापस नहीं होता है तो यह छह दिन, छह माह, छह साल तक चलेगा। अमित शाह ने एक समुदाय से दुश्मनी लेकर पूरे देश को गृह युद्ध में झोंक दिया है। एएमयू में धरना तब तक जारी रहेगा जब तक काला कानून वापस नहीं होता। छात्र अभी आए नहीं हैं, 26 जनवरी के बाद पूरी यूनिवर्सिटी खुलेगी। मंगलवार को अमित शाह ने लखनऊ में कहा था कि डिबेट कर लें। वह यहां के 12वीं के छात्र से भी डिबेट नहीं कर पाएंगे। योगी ने बयान दिया है कि मैं वो हालात कर दूंगा कि सात पुश्तें परेशान हो जाएंगी। इससे बहुत गुस्सा हैं। हमने इस मुल्क को बचाया है। अपने गले को कटवाया है।

देश को तोडऩे की नहीं की बात

प्रसिद्ध गायिका मालिनी अवस्थी सहित दर्जनों लोगों ने इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। फैजुल ने इस बयान को ट्विटर पर भी ट्वीट किया है। हालांकि जागरण से बातचीत में फैजुल सफाई की मुद्रा में थे। उन्होंने कहा कि मैंने देश तोडऩे जैसी कोई  बात नहीं की। एएमयू के प्रवक्ता प्रो. शाफे किदवई का कहना है कि किसी को भी माहौल खराब करने वाला बयान नहीं देना चाहिए।

अब कोई जिन्ना नहीं बन सकेगा: पचौरी

फैजुल के बयान पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. पुष्पेंद्र पचौरी ने कहा कि फैजुल हसन जैसे लोगों के बयान से देशभक्त  मुस्लिम समुदाय कठघरे में खड़ा होता है। ये अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने के लिए ऐसा करते हैं। फैजुल जैसे सोच रखते हैं कि वह दूसरे जिन्ना बन जाएं, वह संभव नहीं है। अब भारत में न कोई जिन्ना पैदा होगा और न कोई दूसरा पाकिस्तान बनेगा। यदि उन्हें जाना है तो दुनिया में 56 देश मुस्लिम राष्ट्र हैं, वह कहीं भी जा सकते हैं।

फैजुल का बयान देश विरोधी

भाजयुमो के जिलाध्यक्ष मुकेश सिंह लोधी ने फैजुल को देश विरोधी मानसिकता वाला बताया है। मुकेश ने कहा कि फैजुल छात्रों को गुमराह कर रहे हैं। जिस दिन एएमयू में अनुसूचित जाति को आरक्षण मिल जाएगा उस दिन देश को टुकड़े-टुकड़े करने वालों से आजादी मिल जाएगी।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस