अलीगढ़, जागरण संवाददाता ।  विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने अचूक रणनीति बनानी शुरू कर दी है। भाजपा ऐसा चक्रव्यूह तैयार करने की कोशिश कर रही है, जिसे भेदना नामुमकिन हो। इसलिए पार्टी ने सातों विधानसभा क्षेत्रों में विस्तारक उतार दिए हैं। यह विस्तारक पूर्णकालिक हैं, जो संगठन के लिए 24 घंटे समर्पित रहेंगे। दावेदारों के टिकट के लिए भी विस्तारकों की भूमिका अहम होगी। विस्तारक विधानसभा क्षेत्र में दावेदारों की स्थिति का पूरा आंकलन प्रदेश कार्यालय भेजेंगे।

2017 के चुनाव में भी भाजपा ने उतारे थे विस्‍तारक

भाजपा ने 2017 के विधानसभा चुनाव में भी विस्तारक उतारे थे। जिसका पार्टी को लाभ भी मिला। जिले की सातों सीटें जीतकर भाजपा ने इतिहास रच दिया था। इससे उत्साहित पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भी वही रणनीति अपनाई। विस्तारकों ने संगठन की कमान संभाले रखी। लोकसभा चुनाव में भी भाजपा को इसका लाभ मिला। इस बार भी 2022 के चुनाव में भाजपा ने सातों विधानसभा क्षेत्र में विस्तारक उतार दिए हैं। यह विस्तारक आरएसएस के प्रचारक की तरह काम करते हैं, जिन्हें पूरे समय क्षेत्र में ही रहना होता है। यहां तक तीज-त्योहार आदि में भी वह घर नहीं जाते हैं। विधानसभा क्षेत्र में कार्यालयों पर रहकर वह क्षेत्र की पूरी रुपरेखा बनाते हैं। क्षेत्र में जाकर जनता की राय लेना, जनता का कैसा रुझान और सरकार से क्या-क्या अपेक्षाएं हैं इनके बारे में जानने की कोशिश करते हैं। इसके बाद यही जानकारी वह प्रदेश कार्यालय पहुंचाते हैं। वहां से फिर उसी प्रकार से रणनीति बनाई जाती है। विस्तारक टिकट के लिए दावेदारी कर रहे कार्यकर्ताओं की रिपोर्ट भी ऊपर भेजते हैं। जिससे ऐसे नाम क्षेत्र और प्रदेश कार्यालय पर भेजे जाएं, जो जीताऊ हों। किसी भी तरह का कोई विवाद न हो। हालांकि, अभी तक सिर्फ अतरौली विधानसभा क्षेत्र में विस्तारक नहीं तय हो पाए हैं।

2017 की रणनीति

भाजपा ने विस्तारकों को मैदान में उतारकर 2017 की रणनीति अपनाई है। पिछले विधानसभा चुनाव में भी भाजपा ने विस्तारकों को चुनाव के समय उतारा था। भले ही जिले और महानगर की कार्यकारिणी चुनाव में पूरी तरह से सक्रिय हो, मगर विस्तारकों की भूमिका चुनाव के समय अहम रहती है। सीधे संगठन से इनका जुड़ाव होता है। इसलिए पार्टी ने दो महीने पहले से ही विस्तारकों की नियुक्ति कर दी है। भाजपा की कोशिश है कि चुनाव तक इतनी तैयारी कर ली जाए जिससे कोई कमी न रहे। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र की तह तक रिपोर्ट तैयार कर ली जाए।

इन्हें मिली जिम्मेदारी

विधानसभा क्षेत्र-विस्तारक

शहर-ललित

कोल-वीरेंद्र प्रताप सिंह

छर्रा-नमन पांडेय

बरौली-सुखपाल

खैर-पारथ जादौन

इगलास-अतुल मिश्रा

इनका कहना है

संगठन की यह प्रक्रिया है। पिछले चुनाव में भी विस्तारक उतारे गए थे, इस बार भी वह विधानसभा क्षेत्र में काम कर रहे हैं। इससे हम सभी को भी कार्य करने में काफी सहूलियत मिलती है।

चौधरी ऋषिपाल सिंह, जिलाध्यक्ष भाजपा

Edited By: Anil Kushwaha