अलीगढ़ : भारतीय जनता पार्टी का लोकतंत्र में कोई विश्वास ही नहीं है। पिछले दिनों त्रिस्तरीय पंचायत के हुए चुनाव में लोकतंत्र की हत्या की गई। 2022 में प्रदेश से भाजपा का अंत हो जाएगा। महंगाई व भ्रष्टाचार से त्रस्त जनता समय का इंतजार कर रही है। चौधरी चरण व चौधरी अजित सिंह ने हमेशा किसानों को सम्मान दिया और आपसी भाईचारे को मजबूत किया। यह बातें तहसील मुख्यालय पर राष्ट्रीय लोकदल की किसान महापंचायत में चौ. हरचरन सिंह ने कहीं। पंचायत में चौधरी अजित सिंह को श्रद्धांजलि दी गई। किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए राष्ट्रपति के नाम संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन एसडीएम कुलदेव सिंह को सौंपा गया। ज्ञापन में उन्होंने कृषि कानून के विरोध में दिल्ली में किसान यूनियन के धरने के बाद भी कानून को वापस न लिए जाने पर रोष प्रकट करते हुए तीनों कानूनों को रद्द करने की मांग की गई। किसानों को उनकी उपज का समर्थन मूल्य दिए जाने, कृषि कार्य में प्रयोग किए जाने वाले उपकरण, खाद, बीज, कीटनाशक आदि को रियायती दरों पर उपलब्ध कराने, किसानों को डीजल-पेट्रोल सस्ते दामों में उपलब्ध कराने की मांग की गई। वहीं प्रदेश सरकार की कृषि व विद्युत नीति की घोर निदा करते हुए नलकूप से मीटर हटाए जाने की भी मांग की। इस मौके पर कुलदीप चौधरी, सुलेखा सिंह, अमित ठेनुआं, रणधीर सिंह, इरफान, पुरुषोत्तम, राजन सिंह, जितेंद्र चौधरी, कृष्ण कुमार, लक्ष्मण सिंह, एदल सिंह, अमर सिंह, देवेंद्र चौधरी, विजयभान सिंह, केदार सिंह, महावीर सिंह, हरवीर सिंह, रनवीर सिंह, केवल सिंह, अंकित, धमेंद्र चौधरी, देवेंद्र आदि थे।

Edited By: Jagran