जागरण संवाददाता, अलीगढ़: सासनीगेट क्षेत्र के आगरा रोड स्थित रूसा हास्पिटल के पास बाइक सवार दो बदमाशों ने स्कूटर सवार ज्वेलर को तमंचा दिखाकर दो लाख की कीमत के जेवरों से भरा बैग लूटकर भाग गए। शाम ढलते ही हुई इस वारदात ने पुलिस के होश उड़ा दिए हैं। तीन टीमें भागे बदमाशों की तलाश में जुट गई हैं और इलाके भर में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। ज्वेलर संग लूट की यह चौथी वारदात है। पिछले नौ सालों में लूट की तीन बार घटनाएं हो चुकी हैं।

सासनीगेट के हनुमानपुरी गली नंबर दो निवासी मनोज वर्मा की मडराक क्षेत्र में नगला मंदिर में सुमित्रा रेडीमेड गारमेंट व ज्वेलर्स के नाम से दुकान हैं। एक ही दुकान में मनोज ज्वेलर व रेडीमेड गारमेंट की दुकान चलाते हैं। दुकान बंद कर शाम करीब सात बजे वे साले राहुल के साथ स्कूटर से घर आ रहे थे। जैसे ही वे आगरा रोड पर रूसा हास्पिटल के पास पहुंचे तभी पीछे से आए एक बाइक पर सवार तीन नकाबपोश बदमाशों ने मनोज वर्मा के स्कूटर को रोक लिया। फिर तमंचा दिखाते हुए स्कूटर की डिग्गी में रखे सोने-चांदी से भरे बैग को लूटकर मडराक की ओर भाग गए। मनोज के अनुसार बैग में दो से ढाई लाख रुपये के जेवर रखे हुए थे। लूट की सूचना पर इंस्पेक्टर सासनीगेट गोविद बल्लभ शर्मा, सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह के अलावा एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत पहुंच गए। पीड़ित की ओर से मुकदमा दर्ज किया गया है।

दूध से भरे डिब्बे को भी लूट ले गए बदमाश

बदमाश लूटपाट के दौरान जेवर से भरे बैग के साथ ही दूध से भरे हुए डिब्बे को भी लूटकर ले गए। इस घटना को बदमाशों ने दो मिनट से भी कम समय में ही अंजाम दिया। संभावना जताई जा रही है कि घटना को अंजाम देने वाले बदमाश नगला मंदिर से ही ज्वेलर का पीछा करते हुए आ रहे थे।

सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल रही पुलिस

सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह ने बताया कि बदमाशों की फुटेज मिली है, जिसमें अंधेरे की वजह से चेहरे साफ नहीं आ सके हैं। फिर भी अन्य कैमरों की फुटेज के आधार पर बदमाशों की तलाश जारी है।

चौथी बार हुई लूट की घटना

ज्वेलर मनोज वर्मा की बहन मिथलेश वर्मा एडवोकेट ने बताया कि वर्ष 2012 में बदमाश दुकान से तिजोरी लूटकर ले गए थे। फिर सासनीगेट क्षेत्र की एडीए कालोनी में दुकान का थैला छीन ले गए थे। तीसरी वारदात 29 दिसंबर 2016 को मंदिर नगला पर हुई थी। जहां बदमाशों के विरोध पर मनोज को गोली मार दी थी। मिथलेश वर्मा के अनुसार इन तीनों ही वारदातों में से पुलिस किसी का राजफाश नहीं कर सकी है।

लूट की वारदात के राजफाश को तीन टीमें गठित की गई हैं। इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगालकर बदमाशों का सुराग लगाने का प्रयास किया जा रहा है, जल्द सफलता मिलेगी।

- कुलदीप सिंह गुनावत, एसपी सिटी।

Edited By: Jagran