अलीगढ़, जेएनएन।  उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में व्‍यापारी संगठनाें का शुक्रवार को प्रस्तावित भारत बंद पूरी तरह से बेहअसर रहा। आम दिनों की तरह ही सब कुछ रहा। बाजार खुले रहे। खास बात यह है कि अलीगढ़ शहर में मुस्‍लिम क्षेत्र के बाजार जुमे की वजह से बंद रहते हैं।  बंद को लेकर पुलिस भी सतर्क हो रही। जगह जगह पुलिस तैनात रही। खास बात यह है कि देहात में भी बाजार खुले रहे। जवां, इगलास, अकराबाद, लोधा व खैर आदि क्षेत्रों में कोई भारत बंद का कोई असर नहीं दिखा।

भारत बंद का ऐलान किया था

एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने कहा है कि शुक्रवार को विभिन्न संगठनों के भारत बंद के आव्हान को लेकर पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही । इस दौरान यदि बाजारों में दुकानों को जबरन बंद कराया जाता है या बंद की आड़ में किसी तरह की आराजकता की जाती है तो ऐसे तत्वों से पूरी सख्ती से निपटा जाएगा। संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजक शशिकांत ने बताया कि व्यापारी संगठनाें ने शुक्रवार को भारत बंद का ऐलान किया था। इसमें किसान संगठन भी समर्थन कर रहे हैं। डीजल, पेट्रोल व एलपीजी की मूल्य वृद्धि के विरोध में किए जा रहे भारत बंद में किसान संगठन शांतिपूर्ण तरीके से विरोध जताएंगे। डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और करों के बढ़ते बोझ से काम-धंधे ठप पड़े हैं।

जबरन दुकान बंद कराता  है तो कार्रवाई 

रोजगार के साधनों पर खतरा मंडराने लगा है। रामघाट रोड स्थित गांव सुखरावली में भी कार्यक्रम होगा। उधर पुलिस भी बंद को लेकर सतर्क हो गई है। सुबह से ही ऐसे  लोगों पर नजर रही । एसपी सिटी कुलदीप गुनावत ने कहा है कि अगर दुकानदार स्वेच्छा से दुकान बंद करते हैं तो कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी। अगर कोई जबरन दुकान बंद कराता  है तो कार्रवाई की जाएगी। 

Edited By: Sandeep kumar Saxena