अलीगढ़ : गौंडा ब्लाक मुख्यालय पर भाकियू हरपाल गुट ने किसान मजदूरों की समस्याओं को लेकर धरना प्रदर्शन किया। अध्यक्षता रघुवीर सिंह दानी व संचालन विक्रम सिंह किया। चौधरी हरपाल सिंह ने किसानों व रसोइयों की मांग की कि किसानों की निजी ट्यूबवेल पर स्मार्ट मीटर कतई नहीं लगाए जाएं। एक साल में 15 हजार से 20 हजार रुपये ही बिल लिया जाए। पचास हजार से एक लाख रुपये किसान बिल नहीं दे पाएंगे। ओटीएस स्कीम के तहत विद्युत बिल की विद्युत विभागों में मंजूर कनेक्शन से एसएचपी अधिक बिल ले लिया है। आगे बिल में एडजस्ट किया जाए। गेहूं खरीद में सहकारी समितियों पर एक दिन में तीन सौ क्विटल ही खरीद के सरकारी आदेश के कारण काफी किसानों को तीन सौ रुपये प्रति कुंटल गेहूं के दाम कम मिले हैं। कभी बोरा अभाव कभी लेबर अभाव में थोड़ी खरीद हो पाई है। अब कृषि मंडी में किसानों को धक्के खाने पड़ रहे हैं। रसोइयों का मानदेय पंद्रह हजार प्रतिमाह किया जाए। धरने के समर्थन में किसान विरोधी कानून समाप्त हो। 20 जून को तहसील इगलास पर घेराव होगा। ज्ञापन दाताओं में चौधरी हरपाल सिंह,चौधरी हरेंद्र सिंह, चौधरी वीरेंद्र सिह, विक्रम सिंह, ओमप्रकाश, राजवीर शर्मा, देवेंद्र सिंह, ओंकार सिंह बौहरे, राजकुमार गुप्ता, शशि देवी, कमलेश, धीरज देवी, विमल देवी, रामबेटी देवी, कुसुम, महेंद्री देवी, मंजू देवी, इंद्रवती देवी आदि मौजूद थे।

सोमवार को छर्रा मंडी में

भाकियू की पंचायत

संसू, छर्रा : भाकियू नेता चौ.नवाब सिंह ने बताया कि सोमवार को कस्बा छर्रा स्थित गल्ला मंडी में एक पंचायत का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने क्षेत्र के किसान व मजदूरों से 12 बजे तक अधिक से अधिक संख्या में बैठक में पहुंचने की अपील की है।

Edited By: Jagran