हाथरस, प्रमोद सिंह।  सादाबाद में जमीन के विवाद में खून के रिश्ते ही खूनी हो गए। दो अलग-अलग मामलों में तीन लोगों की हत्या ने समाज को सोचने पर मजबूर कर दिया है। आखिरकार हमारा समाज किस ओर जा रहा है। सादाबाद क्षेत्र के ग्राम नगला टीकैत धनी में एक ही परिवार के दो भाइयों के बीच घर के बंटवारे को लेकर शुक्रवार देर शाम आपस में झगड़ा हुआ। बड़े भाई नीरज ने छोटे भाई धीरज की पत्नी पूजा (25) को फावड़े से मार डाला। शनिवार की सुबह करीब सवा दस बजे सादाबाद के ही गांव छावा नगरिया में तीन सगे भाइयों में खेत कि मेड़ को लेकर विवाद हुआ जिसमें अजयपाल व उसके पुत्रों ने अजयपाल के सगे भाई फाल सिंह  व हमवीर पर फायरिंग की। दोनों की मौत हो गई। 

पुलिस करती है जागरूक

गांवों में शांति व्यवस्था कायम रहे, इसको लेकर इलाका पुलिस समय-समय पर बैठकें आयोजित कराती है। गांव के संभ्रांत लोगों को बुलाकर सद्भाव और भाईचारे के साथ मिल जुलकर रहने का संदेश देती है। वहीं बीट सिपाही अपने-अपने क्षेत्र में रहकर हर गतिविधि पर नजर रखते हैैं। तमाम जागरूकता कार्यक्रम सामाजिक संगठनों की ओर से भी चलाए जाते हैं। इसके बावजूद लोभ जब सिर चढ़कर बोलता है तो सारे रिश्ते बेमानी हो जाते हैैं।

2020 में हुई संगीन वारदात

-04 फरवरी को प्रेम प्रसंग के चलते रिश्ते के मामा ने अपनी भांजी की शहर के रेंस्टोरेट में चुन्नी से गला घोंटकर हत्या कर दी।

-24 जुलाई को गांव दरियापुर में पत्नी के मायके से न आने पर चाचा ने पांच वर्षीय ब'ची की गला दबाकर हत्या कर दी।

-28 सितंबर को सादाबाद की एक चार वर्षीय ब'ची के साथ इगलास के एक गांव में मौसी के नाबालिग बेटे ने दुष्कर्म किया, जिसमें ब'ची की उपचार के दौरान मौत हो गई।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस